मनोरंजन वालों के लिए "मोलेस्टेशन" नई बात नहीं!

Sushant Mohan | News18Hindi

Updated: March 14, 2017, 6:59 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

ये पहली बार नहीं है जब किसी मीडिया संस्थान या बॉलिवुड से जुड़ी किसी महिला ने एक स्थापित और चर्चित नाम के खिलाफ़ यौन उत्पीड़न या शोषण की शिकायत दर्ज़ करवाई हो.

टीवीएफ़ के सीईओ अरुनाभ एक ताकतवर शख्सियत हैं और मनोरंजन की दुनिया में अपना करियर बनाने के ख्व्वाहिशमंद किसी भी इंसान को रातोंरात स्टार बना सकते हैं.

मनोरंजन वालों के लिए
अरुनाभ

लेकिन स्टार बनने के एवज में अगर कोई निर्माता, निर्देशक किसी महिला से साथ सोने की मांग रख दे तो इसे शोषण ही कहा जाएगा.

बॉलिवुड और मीडिया इंडस्ट्री में इस तरह के शोषण के किस्से आम सुनने में आते हैं, हालांकि यह कितने सही हैं इस पर अभी भी विवाद है लेकिन रोमांचक भाषा में इसे "कांस्टिंग काऊच" का नाम दिया जाता है.

अमन वर्मा और शक्ति कपूर

shakti  kapoor aman verma

साल 2005 में हुए एक स्टिंग ऑपरेशन में जब शक्ति कपूर और अमन वर्मा का नाम एक विवादित ऑडियो कॉल के ज़रिए एक लड़की को कास्टिंग काउच के लिए उकसाने पर आया तो बॉलीवुड हिल गया. ये पहली बार था जब खुल कर किसी ने फ़िल्मों में चोरी छिपे होने वाली कास्टिंग काउच को उजागर कर दिया था. अमन और शक्ति दोनों को इस विवादित मामले में बरी किया गया था लेकिन इसके बाद रोल के लिए किए जाने वाले यौन शोषण के बारे में कई शिकायते सामने आई.

मधुर भंडारकर

madhur new

अभिनेत्री प्रीति जैन ने निर्माता निर्देशक मधुर भंडारकर पर फ़िल्म में रोल दिलाने के एवज में बलात्कार और यौन शोषण का आरोप लगाया था. साल 2004 में प्रीति ने अपनी शिकायत में यह कहा था कि साल 1999 से लेकर 2004 तक मधुर ने उनका यौन शोषण किया था, 2006 में इस केस को ख़ारिज किया गया लेकिन 2009 में ये केस रीओपन हुआ और मधुर इससे बरी हो गए.

शाईनी आहूजा

shiney ahuja

साल 2009 में शाईनी आहूजा के घर पर काम करने वाली मेड ने शाईनी पर बलात्कार का आरोप लगाया था, इस केस में शाईनी को 7 साल की सज़ा दी गई है जिस पर सुनवाई चल रही है. शाईनी के उपर हुए इस केस के चलते उनका फ़िल्मी करियर रातोरात ठप्प हो गया था. हालांकि इस केस में शाईनी की मेड ने बाद में अपना बयान बदलने की कोशिश की थी लेकिन अदालत ने शाईनी की सज़ा को बरकरार रखा था.

तरुण तेजपाल

tarun tejpal

 

जानी मानी मीडिया मैगज़ीन तहलका के सपांदक तरुण तेजपाल पर तब तलवार गिरी जब उनकी एक सहकर्मी ने गोवा में हो रही एक पार्टी के दौरान तरुण पर जबर्दस्ती और छेड़छाड़ का आरोप लगाया. इस मामले में अदालत और भी सख़्त हो गई जब कंपनी ने अपनी इंप्लाई को समझाने और शिकायत न करने की नसीहत दी.

श्यामक दावर

shyamak

मशहूर कोरियोग्राफ़र श्यामक दावर पर भी कनाडा में मौजूद उनकी डांस अकादमी के दो छात्रों ने यौन और मानसिक उत्पीड़न का आरोप लगाया है. श्यामक पर आरोप है कि उन्होनें धार्मिक भावनाओं का सहारा लेते हुए इन दो छात्रों को इनकी मर्ज़ी के विरुद्द यौन क्रियाओं में लिप्त किया. ये केस अभी कनाडा की एक अदालत में पेंडिंग है.

रीना गोलन

rona

इज़रायल से भारत आकर बॉलीवुड में अपना करियर बनाने का सपना देखने वाली रीना ने अपनी आत्मकथा में सुभाष घई समेत कई निर्माता निर्देशकों के द्वारा रोल या काम दिलाने के बदले यौन संबंधो की मांग किए जाने की बात लिखी है. हालांकि उनके आरोपों को एकतरफ़ा कह कर बॉलीवुड ख़ारिज करता आया है.

ये कुछ ऐसे मामले थे जिनके बारे में कोई शिकायत या तो दर्ज़ हुई या शिकायत लिखवाई गई.

लेकिन ऐसे कई मामले हैं जो चर्चा में ज़रुर आए लेकिन उनपर कोई शिकायत या कारर्वाई नहीं हुई, जैसे ममता कुलकर्णी का निर्देशक राजकुमार संतोषी पर लगाया गया आरोप या हाल का टीवीएफ़ मामला जिसमें आरोप लगाया गया है लेकिन कोई शिकायत दर्ज़ नहीं है.

अभिनेत्री स्वरा भास्करा ने न्यूज़ 18 हिंदी के सुशांत मोहन को दिए इंटरव्यू में ये कहा था कि वो भी एक बार कास्टिंग काउच के ऑफ़र का सामना कर चुकी हैं लेकिन वो उस जगह से सही समय पर निकल गई थी.

मीडिया और बॉलीवुड में इस तरह की शिकायतें आम हैं लेकिन ऐसी शिकायतों पर कोई सख़्त कारर्वाई नहीं होने की वजह से इस तरह की घटनाए भी आम हैं.

हालांकि इस तरह के मामले दुधारी तलवार की तरह होते हैं और कई बार सस्ती लोकप्रियता बटोरने के लिए भी इस तरह के स्टंट किए जाते हैं लेकिन शिकायत सच्ची है या झूठी, इसे जाँचना बेहद अहम है.

First published: March 14, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp