पाक सिनेमा उद्योग को हुआ घाटा, भरपाई के लिए भारतीय फिल्मों से हटाया बैन

भाषा

Updated: December 18, 2016, 5:46 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

कराची। पाकिस्तान के सिनेमाघरों में कल से भारतीय फिल्में दिखाई जाएंगी क्योंकि वितरकों एवं सिनेमाघर मालिकों ने उरी हमले के बाद उत्पन्न भारत-पाकिस्तान तनाव के बाद लगाये प्रतिबंध को हटा लिया है। फिल्म वितरक एसोसिएशन के अध्यक्ष जोरैशी लाशरी ने बताया कि संबंधित पक्षों के साथ चर्चा के बाद यह तय किया गया कि भारतीय फिल्मों का प्रदर्शन कल से बहाल किया जाए।

उन्होंने कहा कि सिनेमाघर मालिकों एवं इस उद्योग के अन्य पक्षों पर भारतीय फिल्मों के प्रदर्शन पर अस्थायी रोक के फैसले से बड़ी मार पड़ी है। नए सिनेप्लेक्सों एवं मल्टी प्लेक्सों को उन्नत बनाने एवं उनके निर्माण पर बहुत निवेश किया गया था, लेकिन इस समय धंधा नई भारतीय फिल्मों के प्रदर्शन पर निर्भर है। सिनेमाघर मालिकों ने कहा कि उन्होंने भारतीय फिल्मों के प्रदर्शन पर बस अस्थायी रोक लगायी थी न कि पूर्ण रोक।

पाक सिनेमा उद्योग को हुआ घाटा, भरपाई के लिए भारतीय फिल्मों से हटाया बैन
तस्वीर: Getty-Images

आट्रियम सिनेमा के नदीम मंडीवाला ने कहा कि अस्थायी रोक के चलते जो फिल्में नहीं दिखायी जा सकीं, सबसे पहले वे दिखायी जाएंगी। दिखायी जाने वाली सबसे पहली फिल्म नवाजुद्दीन सिद्दिकी की फ्रीकी अली है। इस उद्योग के सूत्रों ने बताया कि जब नई एवं पुरानी पाकिस्तानी फिल्मों तथा नवीनतम हॉलीवुड फिल्मों के बाद भी हॉल खाली रहने लगे जब ज्यादातर सिनेमाघर के मालिक, वितरक और भारतीय फिल्मों के आयातकों के हाथ-पैर फूल गए।

First published: December 18, 2016
facebook Twitter google skype whatsapp