फिल्म समीक्षा: रिलीज से पहले पढ़ें 'द गाजी अटैक' का रिव्यू

शिखा धारीवाल | News18Hindi

Updated: February 16, 2017, 4:55 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

'द गाजी अटैक' 1971 में भारत पाकिस्तान की लड़ाई में एक गुप्त मिशन की कहानी है. पाकिस्तान की पनडुब्बी पीएनएस गाजी भारतीय नौसेना के सबसे बड़े लड़ाकू बेड़े आईएनएस विक्रांत को तबाह करने निकली है.

भारतीय नौसेना की पनडुब्बी आईएनएस 21 के अधिकारी और सैनिक एक खूफिया मिशन पर निकलते हैं और 18 दिनों तक पानी के भीतर रहकर पाकिस्तानी पनडुब्बी को तबाह कर देते हैं. इस मिशन को अंजाम देनेवाले भारतीय नौसेना के जांबाज सैनिकों की कुर्बानी देखकर आपको गर्व होगा. मगर अफसोस शानदार अदाकारी और जानदार टेक्नोलॉजी के बावजूद 'गाजी अटैक' एक बेहतरीन वॉर मूवी बनने से पहले ही डूब जाती है.

फिल्म समीक्षा: रिलीज से पहले पढ़ें 'द गाजी अटैक' का रिव्यू
पाकिस्तान की पनडुब्बी पीएनएस गाजी भारतीय नौसेना के सबसे बड़े लड़ाकू बेड़े आईएनएस विक्रांत को तबाह करने निकली है.

राणा दग्गुबत्ती तापसी पन्नू, केके मेनन, अतुल कुलकर्णी, ओमपुरी साहब सबने प्रभावित किया है, लेकिन फिल्म में उतार चढ़ाव और रोमांच की कमी है, जबकि कहानी का अंत आप शुरू में ही समझ जाते हैं, इसलिए फ़िल्म 'द गाजी अटैक' को बीटीडीडी फिल्म रिव्यू में पांच में 2.5 स्टार्स मिलते हैं, एक अच्छा विषय चुनने के लिए.

First published: February 16, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp