मूवी रिव्यूः सीन पेन की जानदार एक्टिंग के लिए देखें ‘गैंगस्टर स्काउड’

राजीव मसंद
Updated: January 12, 2013, 10:14 AM IST
राजीव मसंद
Updated: January 12, 2013, 10:14 AM IST
नई दिल्ली। फिल्म ‘गैंगस्टर स्काउड’ के ओपनिंग सीन के साथ ही इस फिल्म में होने वाली हिंसा का अंदाजा हो जाता है। एक कठोर माफिया लीडर जो अपने दुश्मन को दो गाड़ियों के बीच बांध उन्हें अलग-अलग दिशा में खींचकर उसके दो टुकड़े कर देता है। इस खतरनाक गुट का बॉस है मिका कोहन जो लॉस एंजिल्स का सबसे खतरनाक गैंगस्टर है और जिसके किरदार में हैं सीन पेन।

1939 का बना यह थ्रिलर असली घटनाओं और असली वारदातों से प्रेरित है। एक बार फिर शानदार अभिनय करते हुए पेन एक बॉक्सर हैं जो अब खतरनाक मुजरिम बन चुका है। वो अपने ड्रग्स, वेश्यावृत्ति, जबरन वसूली की दुनिया को और ज्यादा फैलाना चाहता है। शहर के ज्यादातर पुलिस वाले कोहन की जेब में हैं इसलिए उसे रोकने की ज़िम्मेदारी दी जाती है ईमानदार अफसर जॉन ओ मारा यानि जोश ब्रोलिन को जिसे गुप्त तरीके से एक मिशन बनाना है। ताकी वो किसी तरह कोहन के बिजनेस को तबाह कर सके।

ओ मारा के साथ काम करने वालों में जेरी वूटर्स यानी रयान गॉसलिंग कोहन की खूबसूरत प्रेमिका यानी की एमा स्टोन के साथ नजदीकी बढ़ाता है और उस जुर्म के बादशाह को हराने के लिए उसकी मदद लेता है। छोटी-छोटी जानकारियों के साथ फिल्म ‘गैंगस्टर स्काउड’ इतने बेहतरीन तरीके से शूट की गई है कि ये आपको बहुत ही अच्छी फिल्म की फील देती है, क्योंकि आपको बांध रखने के लिए यहां कोई मज़बूत कहानी नहीं है। ये फिल्म बस एक्शन और शूट आउट सीन का मोंटाज लगती है।

इस सब खूनखराबे के बीच इन किरदारों के लिए केयर करना मुश्किल है। खास तौर पर ओ मारा की सेना से। रयीन गोसलिंग और एमा स्टोन को उनकी वो केमिस्ट्री डेवलप करने का मौका नहीं मिल पाता जो हमने फिल्म ‘क्रेजी स्टूपिड लव’ में देखा था। वहीं कोहन की सल्तनत पर हमला करते हुए जोश ब्रोलिन ही हैं जो एक बहादुर पुलिस के तौर पर अपनी छाप छोड़ते हैं।

फिल्म ‘गैंगस्टर स्काउड’ किसी भी तरह से बुरी फिल्म नहीं है। पर ये अविकसित और हॉफ बैक्ड ज़रूर लगती है। मैं फिल्म ‘गैंगस्टर स्काउड’ को पांच में से ढाई स्टार देता हूं। ये कोई क्लासिक थ्रिलर फिल्म नहीं है पर ऐसा भी नहीं कि ये देखने लायक नहीं है। इसे सीन पेन और जोश ब्रोलिन के शानदार अभिनय के लिए देखें। (विस्तृत समीक्षा के लिए वीडियो देखें)





First published: January 12, 2013
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर