बिग बॉस से क्यों बाहर हुए करण मेहरा, क्या मिली शराफत की सजा?

स्मिता चंद | News18India.com
Updated: November 22, 2016, 1:10 PM IST
बिग बॉस से क्यों बाहर हुए करण मेहरा, क्या मिली शराफत की सजा?
करण का इस तरह से शो से बाहर होना उनके फैंस को अच्छा नहीं लग रहा है। शांत स्वभाव के करण को लोग काफी पसंद करते हैं।
स्मिता चंद | News18India.com
Updated: November 22, 2016, 1:10 PM IST
नई दिल्ली। नैतिक के नाम से मशहूर छोटे पर्दे के मशहूर एक्टर करण मेहरा बिग बॉस के घर से बाहर हो गए हैं। करण का इस तरह से शो से बाहर होना उनके फैंस को अच्छा नहीं लग रहा है। शांत स्वभाव के करण को लोग काफी पसंद करते हैं, शो में भी उनको वोट मिल रहे थे, लेकिन जिस तरह करण को अचानक एलिमिनेट कर दिया, उससे उनके फैंस तो हैरान हैं ही, करण को भी बिग बॉस के इस फैसले पर यकीन नहीं आया। सोशल मीडिया पर करण के सैकड़ों फैंस बिग बॉस के फैसले के खिलाफ नजर आए। न्यूज 18 इंडिया डॉट कॉम ने करण मेहरा से खास बात की। पेश है बातचीत के अंश।

सवाल: आपने सोचा था कि आप इतनी जल्दी बाहर हो जाएंगे?

जवाब: बिग बॉस के इस फैसले से मैं खुद बहुत हैरान हूं, मुझे पता चला है कि वोटिंग में मैं नबंर वन था, लेकिन फिर भी बाहर हुआ। मुझे इस बात का ज्यादा दुख है कि मेरे फैंस को ये फैसला अच्छा नहीं लग रहा है। लोगों को इस शो में भरोसा है, लेकिन ऐसे फैसले से लोगों को भी काफी दुख पहुंचा है। खैर मुझे कोई फर्क नहीं पड़ा, मैं 35 दिन तक घर में रहा मेरे दिन काफी अच्छे गुजरे। मुझे जहां जरुरत थी वहां आवाज उठाई। शो की कई अच्छी चीजें तो लोगों तक पहुंची ही नहीं, हम लोग दिनभर जो अच्छी चीजें करते थे वो तो दर्शकों को दिखाया ही नहीं गया।

सवाल: क्या हम 1 घंटे के शो में जो देखते हैं वो स्क्रिप्टेड होता है?

जवाब: नहीं शो स्क्रिप्टेड तो नहीं होता है, इसी वजह से मैं इस शो में गया था। अगर ऐसा कुछ होता तो मैं इस शो का हिस्सा ही नहीं बनता। मैं 15 साल से इस इंडस्ट्री में हूं, लोग मुझे जानते हैं, मेरा व्यवहार कैसा है। मैं जिस इज्जत के साथ शो में गया था वैसे ही बाहर आया। अगर इंटरटेनमेंट के नाम पर किसी से लड़ना जरूरी है, गाली गलौज करना जरूरी है, बदतमीजी करना जरूरी है, तो हां मैंने गलती की। मैं कुछ पैसों के लिए ये सब नहीं कर सकता। 24 घंटे हम लोग शांति से घर में रहते थे, खासतौर पर मैं और मेरा ग्रुप हम लोग आराम से सारे काम करते थे और जब जरूरत होती थी तो टास्क भी करते थे। जहां मुझे जरूरत पड़ी वहां मैंने स्टैंड भी लिया। ओम जी को लोग मारने आए तो हमने उनको इंसानियत के नाते बचाया भी। मुझे बड़ा अजीब लगता है कि जिस आदमी को लोग मारने उठते हैं उसी के साथ तुरंत नॉर्मल हो जाते हैं।

karan1

सवाल: आपके हिसाब से सबसे अच्छा कंटेस्टेंट कौन है?

जवाब: घर में अच्छे कंटेस्टेंट में गौरव, रोहन, राहुल और वाणी हैं, मुझे लगता है ये आगे तक जाएंगे। रोहन को मैं पहले से जानता हूं, ये सारे लोग काफी अच्छे हैं। मैं इन लोगों के साथ काफी दिन तक रहा। हमारा ग्रुप काफी अच्छा था, सब अच्छा खेल रहे हैं।

सवाल: कैप्टन बनना इतना जरूरी क्यों होता है? क्य़ों लोग इतना लड़ते हैं?

जवाब: कैप्टन बनने का सबसे बड़ा फायदा ये होता है कि एक हफ्ते के लिए आपकी नॉमिनेशन बच जाती है। मैंने घर में देखा कि मनु और ओम जी महाराज में लड़ाई भी हो गई, कैप्टन बनने के लिए लोग पागलपन दिखाते हैं। हालांकि मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता मेरे लिए कैप्टन बनना इतना अहम नहीं था, बनता तो भी ठीक था, नहीं बना तो भी कोई दिक्कत नहीं।

सवाल: सलमान का वीकेंड वार घर के लोगों के इक्वेशन को कैसे बदलता है?

जवाब: हां सलमान के कहने पर काफी फर्क पड़ता। सलमान जो भी कहते हैं, लोग उसे ध्यान से सुनते हैं, और उनके अंदर पॉजिटिव चेंज आते हैं। लोग उनके मुताबिक खुद को बदलने की भी कोशिश करते हैं।

karan2

सवाल: शो में सेलेब्रिटी और आम लोगों के बीच कैसा रिश्ता है क्या आप लोगों को ये लगता है कि आप स्टार हैं और वो आम आदमी?

जवाब: हम लोग स्टार पैदा नहीं हुए थे, हम लोग भी आम आदमी थे। मैं रोहन, गौरव, वाणी सब मिडिल क्लास फैमिली से हैं। हम लोग सालों से मेहनत कर रहे हैं तब जाकर कुछ बने हैं। हमसे ज्यादा नखरे तो इंडिया वाले दिखा रहे थे, जो शायद आप लोगों को दिखाया ही नहीं गया। घर के अंदर बहुत कुछ ऐसा हुआ जो दर्शकों तक नहीं पहुंचा। हम लोगों ने हमेशा हर काम अच्छे से किया। वहां का वातावरण काफी अच्छा था, हम लोग सुलझे हुए तरीके से गेम खेल रहे थे।

सवाल: क्या घर के अंदर सारे काम सच में सेलेब्रिटी करते हैं, यहां उनकी मदद कोई और करता है?

जवाब: बिल्कुल नहीं वहां सारे काम हम खुद ही करते हैं, हमारी मदद कोई नहीं करता है। हमने चटनी बनाई, सब्जियां काटी, झाड़ू भी लगाया, बाथरुम की सफाई भी की। वैसे मैं तो बचपन से ही घर के काम करता रहा हूं। हम लोगों ने अपनी शिफ्ट रखी थी, हम लोग आपस में काम बांटकर एक साथ करते थे। जब तक हम लोग सेवक थे, मैंने बहुत काम किया, मैं सुबह से शाम तक काम करता था, हालांकि मुझे आलसी कहा गया तो मुझे बहुत बुरा लगा, मैंने इतना काम किया, लेकिन उसे दिखाया नहीं गया।

सवाल: सलमान ने आप पर जो कमेंट को कि आप घर में एक प्रतियोगी की जगह ले ली है आपको कैसा लगा?

जवाब: सलमान मेरे सीनियर हैं, मैं उनकी बहुत इज्जत करता हूं, वो जो कहते हैं हम लोग ध्यान से सुन लेते हैं और उसे इंप्रूव करने की कोशिश करेंगे।

सवाल: बाहर आने के बाद आपकी पत्नी का क्या रिएक्शन था?

जवाब: मेरी पत्नी निशा भी इस फैसले से काफी हैरान हुई, हालांकि मेरे आने की उसे काफी खुशी हुई।
First published: November 22, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर