कश्मीर से मिला 'केबीसी-6' को अपना पहला करोड़पति

News18India
Updated: September 8, 2012, 4:09 PM IST
कश्मीर से मिला 'केबीसी-6' को अपना पहला करोड़पति
आतंकवाद के कारण 1989 में कश्मीर घाटी छोड़ने को मजबूर रेलवे के कर्मचारी रैना अब इन पैसों से चौगाम स्थित अपने पैतृक मकान को दोबारा बनवाना चाहते हैं।
News18India
Updated: September 8, 2012, 4:09 PM IST
नई दिल्ली। जम्मू एवं कश्मीर के निवासी मनोज कुमार रैना के रूप में कौन बनेगा करोड़पति (केबीसी-6) को अपना पहला करोड़पति मिल गया। आतंकवाद के कारण 1989 में कश्मीर घाटी छोड़ने को मजबूर रेलवे के कर्मचारी रैना अब इन पैसों से चौगाम स्थित अपने पैतृक मकान को दोबारा बनवाना चाहते हैं।

विस्थापन के बाद जम्मू में रह रहे कश्मीरी पंडित रैना ने बेहद उत्साह में कहा कि मैं खुद को सातवें आसमान पर महसूस कर रहा हूं। रैना के खुश होने का कारण था। वह केबीसी के किसी भी संस्करण में भाग लेने वाले पहले कश्मीरी थी। इस कार्यक्रम में रैना को एक करोड़ रुपये का पुरस्कार तो मिला ही साथ उनके पसंदीदा अभिनेता अमिताभ बच्चन से मुलाकात का सौभाग्य प्राप्त हुआ।


रैना ने कहा कि कश्मीर घाटी में मेरा घर आतंकवाद के दौर में नष्ट हो गया था। हमें मजबूरन घाटी छोड़नी पड़ी और 1990 के दशक से जम्मू में रह रहे हैं। तभी से मैं अपने घर को बनाना चाहता था। अब इन जीते हुए पैसों से अपनी इच्छा पूरी करूंगा।

घाटी छोड़ने के बाद से रैना तीन बार अपने पुश्तैनी घर जा चुके हैं और उनका मानना है कि अब आतंकवाद घट रहा है। जम्मू में रैना (48 वर्ष) अपने अपने माता-पिता, पत्नी एवं 10 वर्षीय पुत्र के साथ रहते हैं। केबीसी के सेट पर उनका परिवार मौजूद था। रैना ने कहा कि वह 2000 से ही केबीसी में भाग लेने के लिए प्रयासरत थे।

First published: September 8, 2012
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर