प्रेगनेंसी में बाधा बन सकता है आपका मोटापा

आईएएनएस

Updated: March 21, 2017, 8:38 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

भारत में चिकित्सा विशेषज्ञों ने एक ग्लोबल रिसर्च का समर्थन किया है, जिसमें कहा गया है कि ज्यादा वजन वाली महिलाओं को गर्भधारण करने में थोड़ा ज्यादा समय लगता है. सर्जन डॉ. एम.जी. भट्ट ने बताया कि अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (एनआईएच) में हाल ही में हुए एक रिसर्च के मुताबिक, अगर पति-पत्नी दोनों ही वजनी या मोटे हैं, तो पत्नी को गर्भधारण करने में सामान्य लोगों से 55 से 59 फीसदी ज्यादा समय लगता है.

उन्होंने कहा कि एनआईएच का रिसर्च भारत के लिए भी काफी जरूरी है, क्योंकि देश में बहुत से लोग मोटापे के शिकार हैं. एनआईएच के सी राजेश्वरी सुंदरम ने कहा कि प्रजनन और शारीरिक बनावट पर किए गए बहुत से रिसर्च, महिलाओं को केंद्र में रखकर ही किए गए हैं, लेकिन हमारी खोज से पता चलता है कि गर्भावस्था के लिए स्त्री और पुरुष दोनों की शारीरक बनावट का स्टडी करना जरूरी है.

प्रेगनेंसी में बाधा बन सकता है आपका मोटापा
भारत में चिकित्सा विशेषज्ञों ने एक ग्लोबल रिसर्च का समर्थन किया है, जिसमें कहा गया है कि ज्यादा वजन वाली महिलाओं को गर्भधारण करने में थोड़ा ज्यादा समय लगता है.

डॉ. भट्ट ने बताया कि मोटापे से शरीर का हार्मोन सिस्टम बदल जाता है और इंसुलिन बनने में रुकावट आती है. ज्यादा वजन वाली महिलाएं पीरियड्स की गड़बड़ी और पीसीओडी के साथ मनोवैज्ञानिक समस्याएं भी झेलती हैं.

उन्होंने कहा कि इन महिलाओं पर बांझपन या गर्भावस्था धारण न करने के इलाज का अच्छा असर नहीं होता. उन्हें गर्भधारण करने में भी समस्या होता है. सही खान-पान के साथ वजन कम करने और एक्सरसाइज से उनके गर्भधारण करने की संभावना में सुधार आता है. वजन कम करने के लिए किए जाने वाले ऑपरेशन और वजन कम करने के बाद कई ज्यादा वजन की महिलाएं गर्भवती हो सकी हैं.

First published: March 21, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp