जानें: क्या है राखी बांधने का शुभ-मुहुर्त

News18India.com
Updated: August 18, 2016, 7:43 AM IST
जानें: क्या है राखी बांधने का शुभ-मुहुर्त
आज भाई-बहन का खास त्यौहार रक्षा बंधन है। राखी बांधने का सही मुहुर्त इस बार भद्रा प्रकोप की वजह से काफी देर में है। इस बार राखी बांधने और बंधवाने के लिए भाई-बहनों को ज्यादा देर तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा।
News18India.com
Updated: August 18, 2016, 7:43 AM IST
नई दिल्ली। आज भाई-बहन का खास त्यौहार रक्षा बंधन है। राखी बांधने का सही मुहुर्त इस बार भद्रा प्रकोप की वजह से काफी देर में है। इस बार राखी बांधने और बंधवाने के लिए भाई-बहनों को ज्यादा देर तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

ज्योतिषों के मुताबिक बहनों को राखी उसके गृह-नक्षत्र और राशि के अनुसार ही बांधना चाहिए। वरना इसके प्रतिकूल परिनाम भी हो सकते हैं। ज्योतिषों के मुताबिक इस बार रक्षाबंधन सूर्योदय के साथ शुरू होगा। इस वजह से सुबह से लेकर दोपहर तक रक्षाबंधन के लिए शुभ मुहूर्त है।

बताया जा रहा है कि इस बार सूर्य और चन्द्रमा पर ग्रहण का योग बन रहा है, जिस वजह से दोपहर 2 बजकर 55 मिनट तक ही राखी बांधने का शुभ समय है। ज्योतिष के मुताबिक के इस बार पूर्णिमा 17 अगस्त को दोपहर 3 बजकर 42 मिनट से रात 3 बजकर 28 मिनट तक भद्रा लगने के कारण राखी18 अगस्त को मनाया जा रहा।

भद्रा में क्यों नहीं बांधी जाती है राखी? : माना जाता है कि सूपनखा मे अपने भाई रावण को भद्रा में राखी बांधी थी, जिसके कारण रावण का विनाश हो गया, इसीलिए बहनों को भद्रा में अपने भाई को राखी नहीं बांधनी चाहिए।
First published: August 18, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर