महिलाओं के घोर विरोध के कारण हटाए गये शराब के ठेके

ETV Haryana/HP
Updated: April 20, 2017, 9:20 PM IST
महिलाओं के घोर विरोध के कारण हटाए गये शराब के ठेके
बिलासपुर - बड़ोह गांव में महिलाओं की मुहीम रंग लाई . बंद किये गये शराब के ठेके
ETV Haryana/HP
Updated: April 20, 2017, 9:20 PM IST
हिमाचल में बिलासपुर के श्री नैना देवी के नजदीक गांव बड़ोह में शराब के ठेकों को महिलाओं ने बंद करा दिया.

यह महिलाओं की इच्छा शक्ति का ही नतीजा है कि शराब के ठेके वालों की एक नहीं चली. महिलाओं के विरोध के आगे उन्हें झुकना पड़ा. शराब के ठेकेवालों को बड़ोह गांव से भागना पड़ा. अब उनके दुकानों पर हमेशा के लिए ताले लटक गये हैं.

महिलाओं ने उनके शराब के ठेके के विरोध को अच्छी तरह कवर करने के लिए मीडियावालों को धन्यवाद दिया. शराब के ठेके का विरोध करनेवाली एक ऐसी ही महिला ने कहा कि मैं न्यूज 18 को बधाई देती हूं जिसने शराब का ठेका बंद करने की हमारी आवाज को जन-जन तक पहुंचाया.

एक अन्य महिला ने कहा कि अब ये शराब का ठेका बड़ोह गावं से लगभग डेढ़ किलोमीटर दूर टोबा कैंची चला गया है. टोबा कैंची में टीन का शेड डालकर शराब का ठेका खोला जा रहा है.

बता दें कि ग्रामीण महिलाओं ने शराब के ठेकों के खिलाफ जमकर धरना प्रदर्शन किया. विरोध में उन्होंने चक्का जाम भी किया और सड़क पर नारेबाजी भी की. नशे के खिलाफ लड़ाई में युवा वर्ग ने भी महिलाओं का खूब साथ दिया. शराब के ठेके के खिलाफ इस घोर विरोध के कारण ही गांव से शराब के ठेकों को हटाना पड़ा.
First published: April 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर