प्रदेश के 80 हजार कर्मचारियों ने कहा, सरकार जल्द करे पेंशन बहाल

Tulsi Bharti | ETV Haryana/HP
Updated: July 17, 2017, 1:59 PM IST
प्रदेश के 80 हजार कर्मचारियों ने कहा, सरकार जल्द करे पेंशन बहाल
कुल्लू में एनपीसी को लेकर बैठक का आयोजन
Tulsi Bharti | ETV Haryana/HP
Updated: July 17, 2017, 1:59 PM IST
हिमाचल प्रदेश में करीब 80 हजार कर्मचारी अपने पेंशन बहाली को लेकर सरकार से मोर्चा लेने को तैयार हो गए हैं. कर्मचारियों ने सरकार से दो टूक कह दिया है कि यदि इस संबंध में जल्द ही कोई कारगर कदम नहीं उठाया गया तो 25 जुलाई को वे शिमला में सचिवालय का घेराव करेंगे.

इस बारे में कुल्लू में हुई बैठक के दौरान खाका तैयार कर लिया गया है. कुल्लू के जिला परिषद भवन में इस दौरान करीब 150 कर्मचारी मौजूद थे. एनपीएस कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष नरेश ठाकुर की अध्यक्षता में जिला अधिवेशन ​कुल्लू में संपन्न हुआ.

संघ के राज्य सचिव भरत शर्मा ने पूरे प्रदेश में संघ द्वारा किए जा रहे कार्यों के बारे में उपस्थित सदस्यों को अवगत कराया एवं उपस्थित कर्मचारियों के समक्ष एनपीएस की खामियों को उजागर किया. उन्होंने कहा कि 15 मई, 2003 को हिमाचल सरकार ने जिस नई पेंशन योजना को लागू किया है, वह पूरी तरह से कर्मचारियों के साथ एक छलावा है.

भरत शर्मा ने कहा कि देश के दो राज्य त्रिपुरा ओर पश्चिम बंगाल में पुरानी पेंशन व्यवस्था ही लागू है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में हिमाचल प्रदेश में 80 हजार कर्मचारी इसके दायरे में आते हैं. इस योजना में 10 फीसदी राशि कर्मचारियों का कटता है और शेष 10 फीसदी राशि राज्य डालता है.

पुरानी पेंशन व्यवस्था के अंतर्गत सेवानिवृति पर 60 फीसदी राशि इनकम टैक्स काटकर राशि प्रदान कर दी जाती है. जबकि 40 फीसदी राशि पर मिलने वाले ब्याज को पेंशन का नाम देकर कर्मचारियों की सेवानिवृत होने के दो वर्ष बाद देना शुरू किया जाता है. नई पेंशन योजना पर जिला अधिवेशन पर विस्तृत मंथन किया गया.
First published: July 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर