पीएम मोदी के स्वच्छ भारत मिशन की पोल खोल रहा कुल्लू जिला

Tulsi Bharti | ETV Haryana/HP
Updated: May 18, 2017, 10:57 PM IST
पीएम मोदी के स्वच्छ भारत मिशन की पोल खोल रहा कुल्लू जिला
हिमाचल : स्वच्छ भारत मिशन की पोल खोल रहा कुल्लू जिला
Tulsi Bharti | ETV Haryana/HP
Updated: May 18, 2017, 10:57 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान के तहत हिमाचल प्रदेश को खुले में शौच मुक्त राज्य घोषित किया गया है, लेकिन कुल्लू जिले में दर्जनों स्थानों पर रह रहे प्रवासी मजदूरों के लिए शौचालय की कोई व्यवस्था नहीं है. इससे सरकार और प्रशासन के खुले में शौच मुक्त करने के दावों की पोल खुल रही है.

यही वजह है कि प्रवासी झुग्गी झोपड़ी में रह रहे लोग व्यास नदी को दूषित कर रहे हैं. इससे नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के निर्देशों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं. एक तरफ जहां सरकार और प्रशासन ने कुल्लू को खुले में शौच मुक्त घोषित किया था, वहीं दूसरी तरफ दूर दराज से आने वाले लोगों के लिए यहां शौचालय का निर्माण नहीं किया गया है.

प्रवासी गोपाल ने कहा कि यहां पर शौचालय की कोई व्यवस्था नहीं है, इसलिए उन्हें व्यास नदी के किनारे शौच के लिए जाना पड़ता है. ऐसी स्थिति में उनके साथ आई महिलाओं को काफी परेशानी होती है.

उन्हें शौच के लिए बाहर जाने में शर्म महसूस होती है. यहां तक कि उनके लिए क्षेत्र में नहाने तक कि कोई व्यवस्था नहीं है. उन्होंने कहा कि वह यहां पर 15-20 वर्षों से रह रहे हैं, बावजूद इसके सरकार ने गरीबों की समस्या का समाधान नहीं किया.

कुल्लू उपायुक्त यूनुस ने कहा कि झुग्गी झोंपड़ी में रहने वाले प्रवासी लोगों के लिए मोबाइल टॉयलेट की व्यवस्था करने के लिए नगर परिषद और नगर पंचायत भुंतर को निर्देश दे दिए गए हैं.
First published: May 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर