कोटखाई गैंगरेप और मर्डर, राजभवन पंहुचा विपक्ष, सरकार को बर्खास्त करने की मांग

News18Hindi
Updated: July 17, 2017, 4:19 PM IST
कोटखाई गैंगरेप और मर्डर, राजभवन पंहुचा विपक्ष, सरकार को बर्खास्त करने की मांग
राज्यपाल को ज्ञापन सौंपते भाजपा नेता.
News18Hindi
Updated: July 17, 2017, 4:19 PM IST
नाबालिग से गैंगरेप के बाद निर्मम हत्या का मामला एक बार फिर राजभवन में गूंजा. पूर्व सीएम एवं नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल की अध्यक्षता में पूरा विपक्ष राज्यपाल आचार्य देवव्रत से राजभवन में मिला और ज्ञापन सौंपा.

घटना के 13 दिन बाद राजभवन पंहुचे विपक्ष ने राज्यपाल आचार्य देवव्रत को प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था की जानकारी दी और नाबालिग के परिवार को न्याय मिलने में हो रही देरी पर चिंता जताई.

विपक्ष ने ज्ञापन सौंपकर राज्यपाल से प्रदेश सरकर को बर्खास्त करने की मांग की. उन्होंने कहा कि कोटखाई हैवानियत के अलावा, कुल्लू में 8 साल की मासूम से दुष्कर्म के बाद हत्या, करसोग में वन रक्षक की हत्या के बाद पेड़ पर लाश को लटकाना और शिमला का युग हत्या कांड जैसी घटनाओं से

प्रदेश में कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े हो गए हैं. ऐसे में सरकार को सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है.धूमल ने सीएम के बयान पर पलटवार किया और कहा कि हत्या पर राजनीति विपक्ष नहीं सरकार कर रही है. आज तक किसी भी घटना के दोषियों को सजा नहीं दिला सकी है.

धूमल ने पुलिसिया कार्रवाई पर भी सवाल उठाए और कहा कि 13 दिन के बाद भी नाबालिग के हत्यारे खुले घूम रहे हैं. प्रदेश में सरकार नाम की कोई चीज दिखाई नहीं दे रही है.
First published: July 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर