इजरायल में मिला प्राचीन फलिस्तीनी कब्रिस्तान, अब खुल जाएगा बाइबिल का ये सबसे बड़ा रहस्य!

News18India.com
Updated: July 12, 2016, 8:09 PM IST
इजरायल में मिला प्राचीन फलिस्तीनी कब्रिस्तान, अब खुल जाएगा बाइबिल का ये सबसे बड़ा रहस्य!
इजरायल में मिले इस कब्रिस्तान में 200 कंकाल मिले हैं, जो तरीके से और बेहद व्यवस्थित तरीके से दफन थे।
News18India.com
Updated: July 12, 2016, 8:09 PM IST
येरूशलम। इजरायल में एक ऐसा कब्रिस्तान मिला है, जो फलिस्तीनियों के बारे में दुनिया भर की राय बदल देगा। अब तक ये माना जा रहा था कि फलिस्तीनी लोग असभ्य और बर्बर होते थे। उन्हें कला और संस्कृति की थोड़ी भी परख नहीं थी, पर इजरायल में मिले इस कब्रिस्तान में 200 कंकाल मिले हैं, जो तरीके से और बेहद व्यवस्थित तरीके से दफन थे।

बाइबिल में एक ऐसे कबीले का जिक्र है, जिसमें लोग पूरब की दिशा से आए और मारकाट मचाकर मौजूदा इजरायली इलाके में बसे। ऐसे लोगों का 11वीं और 12वीं शताब्दी में स्थानीय इजराइलियों से जबरदस्त झड़पे चली थी। इसी ग्रुप से जुड़ा ये कब्रिस्तान है, जिसमें दफनाए गए लोगों के शवों के पास से गहनों के साथ इत्र जैसी चीजें भी मिली हैं। शवों के पास से मिले ये सामान इतना साबित करने के लिए काफी हैं कि पुराने फलिस्तीनी असभ्य और बर्बर भले ही रहे हों, पर उनकी अपनी संस्कृति और कला भी काफी विकसित थी।

इस कब्रिस्तान में खोजकार्य साल 1985 से ही चल रहे हैं। इसे खोजकार्य को ट्रॉय विश्वविद्यालय, बोस्टन कॉलेज, हॉर्वर्ड विश्वविद्यालय की टीमे अंजाम दे रही थी। इस खोजकार्य के अगुआ और ऑर्कियोलॉजी के प्रोफेसर डेनियल एम मास्टर ने कहा कि दशकों के अध्ययन के बाद काफी कुछ हमारे हाथ लगा है। हम उस कबीले के पुराने रहस्यों के बेहद करीब पहुंच गए हैं, जिसमें पूरब से चलकर आए असभ्य कबीले के लोग फिलीस्तिया के 5 मुख्य शहरों में बसे थे। फिलीस्तिया के ये पुराने इलाके मौजूदा दक्षिणी इजरायल और गाजा पट्टी में पड़ते हैं।

phili2

विशेषज्ञों का दावा है कि जिन ऐतिहासिक और मिथकीय कहानियों में मशहूर फलिस्तीनी गोलिआथ नाम के योद्धा का जिक्र मिलता है, वो इसी कबीले के थे। गोलिआथ को इजरायल के युवा योद्धा राजा डेविड ने मार डाला था। इस इलाके को फिलिस्तीन नाम दूसरी शताब्दी के दौरान रोमान साम्राज्य से मिला था, इसी दावे पर आज के फिलिस्तीनी खुद को फलिस्तीनी कहते हैं। इस कब्रिस्तान की मौजूदगी 2000 साल पुरानी है। पहले इसी जगह पर प्राचीन रोमन साम्राज्य के लोगों को भी दफनाया गया था।
First published: July 12, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर