फूलों की खेती के लिए किसानों में उत्साह, कृषि विज्ञान केंद्र से ले रहे ट्रेनिंग

Rituraj Sinha | ETV Bihar/Jharkhand

First published: January 11, 2017, 5:12 PM IST | Updated: January 11, 2017, 5:12 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp
फूलों की खेती के लिए किसानों में उत्साह, कृषि विज्ञान केंद्र से ले रहे ट्रेनिंग
प्रसिद्ध तीर्थ नगरी होने के कारण देवघर में फूल की अच्छी खपत है. इसे देखते हुए देवघर ही नहीं, बल्कि गोड्डा जिले के किसान भी अब फूल की खेती के प्रति आकर्षित होने लगे हैं. किसानों की मदद के लिए अब कृषि विज्ञान केंद्र भी आगे आया है. केंद्र द्वारा ऐसे किसानों को फूल की खेती का प्रशिक्षण दिया जा रहा है.

प्रसिद्ध तीर्थ नगरी होने के कारण देवघर में फूल की अच्छी खपत है. इसे देखते हुए देवघर ही नहीं, बल्कि गोड्डा जिले के किसान भी अब फूल की खेती के प्रति आकर्षित होने लगे हैं. किसानों की मदद के लिए अब कृषि विज्ञान केंद्र भी आगे आया है. केंद्र द्वारा ऐसे किसानों को फूल की खेती का प्रशिक्षण दिया जा रहा है.

प्रत्येक वर्ष बाबा नगरी देवघर आने वाले तीर्थ यात्रियों की संख्या में हो रही वृद्धि के साथ यहां फूलों की खपत में भी बेतहाशा इजाफा हुआ है. आलम यह है कि बाहर से फूल मंगा कर जरूरत पूरी की जाती है. इसे देखते हुए गोड्डा जिले के किसान अब खुद फूल की खेती कर इसे आजीविका का आधार बनाना चाहते. गोड्डा में फूल की खेती की अपार संभावनाओं को देखते हुए कृषि विज्ञान केंद्र देवघर ने वहां के फूल उत्पादकों को प्रशिक्षित करने का बीड़ा उठाया है. केंद्र के समन्वयक पी. के. सनिग्रही ने कहा कि जिले में फूलों की खपत को देखते हुए किसानों को फूल उत्पादन की ट्रेनिंग दी जाएगी.

प्रशिक्षण केंद्र में गोड्डा जिला से बड़ी संख्या में किसान पहुंच कर विभिन्न प्रजाति के फूलों की खेती की जानकारी ले रहे हैं. किसान ऋषि रंजन ने बताया कि प्रशिक्षण के बाद किसान बड़े पैमाने पर फूल की खेती कर अपने जिले के साथ-साथ बाबानगरी की जरुरतों को पूरा करने के अलावा इसे अपनी रोजी-रोजगार का भी माध्यम बनाना चाहते है.

facebook Twitter google skype whatsapp