छात्रों ने बनाई रेसिंग कार, 4 सेकेंड में पकड़ लेती है 210 किलोमीटर की रफ्तार

अभिषेक कुमार | ETV Bihar/Jharkhand

First published: January 14, 2017, 9:44 AM IST | Updated: January 14, 2017, 11:09 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp
छात्रों ने बनाई रेसिंग कार, 4 सेकेंड में पकड़ लेती है 210 किलोमीटर की रफ्तार
आईआईटी आइएसएम धनबाद के छात्रों ने राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाले भारतीय फार्मूला रेसिंग कार से मुकाबले के लिए देसी तकनीक पर आधारित मैकेज्मू एमआरएक्स 01 फार्मूला कार तैयार किया है. यह कार चार सेकेंड में दो सौ किलोमीटर प्रतिघंटे की स्पीड से सरपट भागती है.

आईआईटी आइएसएम धनबाद के छात्रों ने राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाले भारतीय फॉर्मूला रेसिंग कार से मुकाबले के लिए देसी तकनीक पर आधारित मैकेज्मू एमआरएक्स 01 फार्मूला कार तैयार किया है.

यह कार पलक झपकते ही यानि महज चार सेकेंड में दो सौ किलोमीटर प्रतिघंटे की स्पीड से सरपट भागती है.

230 किलो वजन, 26 बीएचपी की पावर

आईआईटी आइएसएम धनबाद के केन्द्रीय कार्यशाला में मैकेनिकल इंजीनियरिंग के दो दर्जन छात्र एक खास मुहिम में जुटे हुए हैं. इनका मिशन है राष्ट्रीय अंतर्राष्टीय स्तर पर सबको मात देने वाले फॉर्मूला वन रेसिंग कार को तैयार करना.

पिछले कई महीनों के परिश्रम के बाद आखिरकार छात्रों की मेहनत रंग लाई और देसी तकनीक और भारतीय इंजन के सहारे आइएसएम के छात्रों ने कमाल की रेसिंग कार तैयार कर दी है.

ये कार महज चार सेकेंड में 210 किलोमीटर की रफ्तार पकड़ लेती है. पिछले वर्ष जहां  कार का वजन 276 किलो था, उसे घटाकर अब 230 किलोग्राम कर दिया गया है. इसमें 26 बीएचपी की पावर है.

unnamed (12)

आठ लाख रुपए की लागत से तैयार

आइएसएम छात्रों के इस फॉर्मूला रेसिंग कार मैकेज्मू एमआरएक्स 01 को बनाने में करीब आठ लाख रुपए की लागत पड़ी है. इसमें आइएसएम पूर्ववर्ती छात्र संगठन इस्मा ने भी सहयोग किया है.

छात्रों ने अपनी पॉकेट मनी से बचाकर एक बेहतरीन रेसिंग कार तैयार की है. जिस तरह से भारत में रेसिंग कार का क्रेज बढ़ रहा है. ऐसे में आइएसएम के इंजीनियरिंग छात्रों की फार्मूला रेसिंग कार भी देश और दुनिया में धूम मचाने के लिए तैयार है.

ism

छात्रों का विश्वास, हम होंगे कामयाब

छात्रों के बनाए रेसिंग कार का उद्घाटन शुक्रवार को जैसे ही आईएसएम के अध्यक्ष डीडी मिश्रा और निदेशक डीसी पाणिग्रही ने उद्घाटन किया, छात्र खुशी से उछल पड़े.

कार के साथ छात्रों ने दौड़ लगाई. छात्र सह टीम लीडर युवराज सिंह दिगरा ने कहा कि हमें भरोसा है कि पिछले वर्ष आईएसएम को देश भर में छठा स्थान मिला था. इस बार नंबर वन स्थान जरूर मिलेगा.

कोयम्बटूर में इसी महीने प्रतियोगिता  

गौरतलब है कि इस बार कर्नाटक के कोयम्बटूर में 26 जनवरी से 29 जनवरी के बीच होने वाले राष्ट्रीय स्तर के फॉर्मूला भारत रेसिंग कार प्रतियोगिता में देश भर के लगभग 50 आईआईटी और तकनीक संस्थान भाग ले रहे हैं. इसमें आईआईटी आइएसएम धनबाद भी शामिल है.

नंबर वन का भरोसा

आईआईटी आइएसएम के प्रोफेसर सोमनाथ चट्टोपाध्याय कहते हैं कि कॉलेज के प्राध्यापकों को पूरा भरोसा है कि धनबाद आइएसएम के छात्रों द्वारा तैयार फार्मूला वन मैकेज्मू जरूर कामयाब होगा.

आइएसएम चेयरमैन डीडी मिश्रा का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेड इन इंडिया के सपनों को साकार करने के लिए भी आइएसएम के छात्र जी जान से जुटे हैं. प्रबंधन भी उन्हें पूरा सहयोग कर रहा है.

facebook Twitter google skype whatsapp