दहेज हत्या के दोषी को दस साल की सजा, फास्ट ट्रैक कोर्ट का फैसला

Gyanendu Jaipuriar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: May 20, 2017, 3:50 PM IST
दहेज हत्या के दोषी को दस साल की सजा, फास्ट ट्रैक कोर्ट का फैसला
बोकारो - फास्ट ट्रैक कोर्ट ने दहेज हत्या के दोषी को दस वर्ष की सश्रम कारावास की सजा सुनाई
Gyanendu Jaipuriar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: May 20, 2017, 3:50 PM IST
झारखंड के बोकारो में पत्नी को जिंदा जला दिए जाने के मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट ने दोषी पाए गए आदित्य साव को दस वर्ष की सश्रम कारावास की सजा सुनाई है.

गौरतलब है कि दहेज में मोटर साईकिल नहीं मिलने पर आदित्य साव ने अपनी पत्नी के शरीर पर किरोसिन तेल डालकर आग लगा दी थी. इस घटना में वह बुरी तरह जल गई और उसी दिन उसकी मौत हो गई थी. दहेज हत्या के इसी केस में आज फास्ट ट्रैक कोर्ट रंजीत कुमार की अदालत ने दोषी पाए गए आदित्य साव को दस वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई.

फैसला सुनाते हुए अदालत ने मृतक महिला के दोनों बच्चों को मुआवजा देने का निर्देश राज्य सरकार को दिया है. अपर लोक अभियोजक​ राकेश कुमार राय ने कहा कि आदित्य की शादी 14 मार्च 2012 में रांची की रहनेवाली अनुपमा देवी से हुई थी.

गौरतलब है कि यह मामला चंदनक्यारी थाना की है जो 20 जनवरी 2015 को घटी थी. रांची की रहने वाली अनुपमा की शादी 14 मार्च 2012 को आदित्य साव के साथ हुई थी. शादी के तीन महीने के बाद से ही 50 हजार रूपये और एक मोटर साईकिल की मांग को लेकर अनुपमा को प्रताड़ित किया जाने लगा था.
First published: May 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर