विकास में बाधक बनने वाले बर्दाश्त नहीं : डीजीपी

Sushil Kumar Singh | ETV Bihar/Jharkhand

First published: January 13, 2017, 10:53 AM IST | Updated: January 13, 2017, 10:53 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp
विकास में बाधक बनने वाले बर्दाश्त नहीं : डीजीपी
सड़क, पुल ,पुलिया बनने से ग्रामीण इलाके के लोग शहर और बाजार से जुड़ते हैं. इलाके का विकास होता है. ऐसे निर्माण कार्य में बाधा डालने वाले अपराधियों को उखाड़ फेंका जाएगा. डीजीपी डीके पांडेय ने यह बात गुमला के भरनो थाना क्षेत्र के करंज गांव में गुरुवार शाम कही.

सड़क, पुल ,पुलिया बनने से ग्रामीण इलाके के लोग शहर और बाजार से जुड़ते हैं. इलाके का विकास  होता है. ऐसे निर्माण कार्य में बाधा डालने वाले अपराधियों को उखाड़ फेंका जाएगा. डीजीपी डीके पांडेय ने यह बात गुमला के भरनो थाना क्षेत्र के करंज गांव में गुरुवार शाम कही.

क्या है मामला

बीते मंगलवार की रात झारखंड संघर्ष जनमुक्ति मोर्चा के हथियारबन्द अपराधियों द्वारा दहशत फैलाने के लिए की गई गोलीबारी और तोड़फोड़ के बाद करंज गाव के घटनास्थल पर गुरुवार को डीजीपी डीके पांडेय, डीआईजी आरके धान ,सीआरपीएफ के डीआईजी मनीष कुमार साचर, एसपी चंदन कुमार झा,डीएसपी समेत पूरा पुलिस महकमा घटनास्थल पर पहुंचा. मौके पर शिवालय कंस्ट्रक्शंस के डायरेक्टर ऋषि पाल सिंह और कंस्ट्रक्शंस के परियोजना समन्वयक संदीप कुमार से घटना की पूरी जानकारी ली गयी.   संदीप कुमार ने बताया कि घटना के बाद 15 कर्मचारी डर के मारे यहां से काम छोड़ कर भाग गए हैं. अभी सड़क निर्माण कार्य बंद है. पुलिस सुरक्षा के बाद काम फिर से शुरू किया जाएगा.

बनेगा पुलिस पिकेट

करंज गांव के ग्रामीण दिवाकर सिंह, विपिन देवघरिया, राजू साहू, जेंगा मुंडा, सीलास बड़ा समेत कई ग्रामीणों ने बताया कि गांव में पुलिस पिकेट के बगैर हम लोग असुरक्षित महसूस कर रहे हैं. ग्रामीणों ने कहा कि इस क्षेत्र में माओवादी, पीएलएफआई, पहाड़ी चिता समेत कई छोटे-मोटे अपराधी गिरोह सक्रिय हैं. इस कारण शाम होते ही यहां के ग्रामीण अपने अपने घरों में दुबक जाते हैं.डीजीपी ने कहा कि यहां आने  पर मुझे जानकारी मिली कि यहां पुलिस पिकेट की मांग की जा रही है. उन्होंने कहा 5 एकड़ भूमि की व्यवस्था किया जाए. यहां अविलंब आधुनिक पुलिस पिकेट की व्यवस्था की जाएगी.

तंबू लगा कर काम करवाउंगा

डीजीपी ने कहा कि करंज गांव से सिसई की दूरी 28 किलोमीटर है और भरनो की दूरी भी 28 किलोमीटर है. करंज दोनों थानों के बीच में है. उन्होंने कहा की मैं यहां पूरी तैयारी के साथ आया हूं,तंबू लगा कर मैं यहां रहूंगा,और निर्माण कार्य पूरा करुंगा. उन्होंने करंज गांव में हेलीपैड, सुलभ शौचालय बनाने की भी बात कही है. मौके पर डीजीपी डी के पांडे द्वारा एसपी चंदन कुमार झा को कई दिशा निर्देश दिए. मौके पर बसिया सर्किल के एसडीपीओ बच्चन देव  कुजूर,इंस्पेक्टर जेएस मुर्मू,भरनो थाना प्रभारी धर्मपाल कुमार समेत बड़ी संख्या में पुलिस जवान थे.

 

facebook Twitter google skype whatsapp