जानिए...क्यों, सरयू राय ने कहा, मैं जेल नहीं जाना चाहता

Ajay Lal | ETV Bihar/Jharkhand

First published: January 11, 2017, 2:50 PM IST | Updated: January 11, 2017, 2:59 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp
जानिए...क्यों, सरयू राय ने कहा, मैं जेल नहीं जाना चाहता
भाजपा के वरिष्ठ नेता और सूबे के संसदीय और खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय इन दिनों अपनी ही सरकार के कार्यकलापों से परेशान और चिंतित हैं. उन्हें लगता है कि कैबिनेट के कई फैसलों को यदि रोका नहीं गया तो आने वाले वक्त में पूरे मंत्रिमंडल को जेल जाना पड़ सकता है. यही वजह रही कि मंगलवार को आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक को बीच में ही छोड़कर सरयू राय राज्य सचिवालय से विदा हो गए.

 

भाजपा के वरिष्ठ नेता और सूबे के संसदीय और खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय इन दिनों अपनी ही सरकार के कार्यकलापों से परेशान और चिंतित हैं. उन्हें लगता है कि कैबिनेट के कई फैसलों को यदि रोका नहीं गया तो आने वाले वक्त में पूरे मंत्रिमंडल को जेल जाना पड़ सकता है. यही वजह रही कि मंगलवार को आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक को बीच में ही छोड़कर सरयू राय राज्य सचिवालय से विदा हो गए.

क्या है मामला

झारखंड खनिज संपदा से भरा प्रदेश है. पिछले तीन सालों से सूबे के 22 खदानों का लीज अवधि समाप्त हो चुकी है. इन खादानों के लीज का नवीनीकरण इसलिए नहीं हो पाया कि खनन करने वाली कंपनियों ने खनन की शर्तों का खुल्लम खुल्ला उल्लंघन किया. सरकार के खनन सचिव कोयले में अपना हाथ काला नहीं कर सकते, लिहाजा सचिव स्तर पर इस पर फैसला नहीं हो सका. लिहाजा कमेटी बनी और फिर कमेटी के बाद सब कमेटी बनी. सभी कमिटियों ने यही कहा कि खनन कंपनियों का लीज का नवीनीकरण नहीं हो सकता. लिहाजा बाद में कैबिनेट ने इस मामले पर फैसला लेना चाहा. ऐसे ही एक कैबिनेट में जब सरयू राय हैदराबाद के दौरे पर थे, कैबिनेट ने लीज नवीनीकरण का फैसला ले लिया. जब सरयू राय को कल यानी मंगलवार को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने इस फैसले का विरोध किया और कहा कि जो काम विभाग को करना था वो काम कैबिनेट क्यों कर रहा है. जब उनकी बात नहीं मानी गई तो वो कैबिनेट से उठकर चलते बने.

अब आगे क्या

सरयू राय उन मंत्रियों में शामिल हैं जो सरकार की कई नीतियों का विरोध करते रहे हैं. सरयू राय की नाराजगी के बाद अब सरकार बैकफुट पर आ गयी है. सरकार को लगता है कि राज्य में सरकार के खिलाफ गलत मैसेज जा रहा है. चूंकि रघुवर दास भी सरयू राय को सीधे कुछ समझा पाने की स्थिति में नहीं हैं लिहाजा मीडिया के माध्यम से सारी बाते सामने आ रही है. इससे पहले सीएनटी और एसपीटी एक्ट के मुद्दे पर भी सरकार को अपने ही लोगों की नाराजगी झेलनी पड़ी है.

मजे ले रहा है विपक्ष

सरकार के खिलाफ सरयू राय की नाराजगी में विपक्ष को मजा आ रहा है. प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सुखदेव भगत का कहना है कि सरकार में अपने ही लोगों के बीच विरोधाभास है.

facebook Twitter google skype whatsapp