क्या आप के बच्चे भी देखते हैं तीन घंटे से ज्यादा टीवी? तो ये है खतरे की घंटी

आईएएनएस

Updated: March 16, 2017, 12:32 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

एक सर्वे के मुताबिक अगर आपके बच्चें तीन घंटे या इससे ज्यादा रोज टीवी से चिपके रहते हैं या फिर अपना ज्यादातर समय कम्प्यूटर, गेम कंसोल्स, टैबलेट व स्मार्टफोन पर बिता रहे हैं, तो यह उनकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है. इससे बच्चों को डायबिटीज का खतरा हो सकता है.

शोध से जुड़े शोधार्थियों के अनुसार बच्चों का लगातार डिजिटल माध्यम की ओर झुकाव उनमें मोटेपन का कारण हो सकता है, और यह इंसुलिन रेजिस्टेंस के लिए भी जिम्मेदार हो सकता है. इंसुलिन पाचन-ग्रंन्थि के माध्यम से हार्मोन के जरिए ब्लड-ग्लूकोज के स्तर को बढ़ने से रोकता है. उसके इस काम में बाधा डायबिटीज उत्पन्न कर सकती है.

क्या आप के बच्चे भी देखते हैं तीन घंटे से ज्यादा टीवी? तो ये है खतरे की घंटी
बच्चों में टीवी देखने से खतरा

शोधकर्ताओं की टीम ने चयापचयी (मेटाबॉलिक) और कार्डियोवैस्क्युलर (हृदयवाहिनी) से संबंधित जांच के लिए लंदन के बरमिंघम और लिसेस्टर के 200 प्राथमिक स्कूलों से 9-10 वर्ष के लगभग 4,500 बच्चों को प्रयोग के दायरे में लिया.

सेंट जॉर्ज यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन के एम.नाईटेंगल ने अपने इस शोध का हवाला देते हुए बताया कि बचपन के शुरुआती वर्षो में बच्चों के टीवी स्क्रीन पर कम समय बिताने से उनमें टाइप-2 डायबिटीज का खतरा कम रहता है. शोध का निष्कर्ष पत्रिका 'आर्काइव्स ऑफ डिजीज इन चाइल्डहुड' में प्रकाशित हुआ है.

First published: March 16, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp