'3310 रिटर्न्स' : अपने देश फिनलैंड से भी पुराना है नोकिया

Kalpana Sharma | News18Hindi
Updated: May 18, 2017, 8:44 PM IST
'3310 रिटर्न्स' : अपने देश फिनलैंड से भी पुराना है नोकिया
नोकिया 3310 एक बार फिर मार्केट में आ गया है
Kalpana Sharma | News18Hindi
Updated: May 18, 2017, 8:44 PM IST
यह तब की बात है जब भारत में मोबाइल फोन ने दस्तक दी थी. अचानक एक जानी पहचानी रिंग टोन बजती है और जेब के अंदर से नोकिया 3310 बाहर निकलता है. कभी बोर हो रहे हैं तो इसी फोन में 'स्नेक' गेम के बेसिक से लेकर अपडेटेड वर्ज़न खेलकर मन बहला लिया जाता है. कुछ ख़ास था इस फोन में कि तमाम तरह के स्मार्टफोन आ जाने के बाद भी इसका मोह नहीं छूटता. शायद यही वजह है कि जब नोकिया 3310 ने एक बार फिर अपने नए रूप में वापसी ली, तो कइयों ने अपने पुराने नोकिया 3310 को ढूंढना शुरू कर दिया.

आज से नोकिया 3310 मार्केट में उपलब्ध हो गया है और इसकी कीमत है 3310 रुपये. इस मौके पर एक नज़र डालते हैं इस फोन को बनाने वाली कंपनी नोकिया से जुड़ी कुछ ऐसी बातों पर जो बताती हैं कि एक छोटे से देश की छोटी सी कंपनी किस तरह पूरी दुनिया पर छाती चली गई.

1 - नोकिया कंपनी ने अपनी शुरुआत पेपर बनाने के काम के साथ शुरू की थी. यह यूरोप के फिनलैंड देश की कंपनी है जिसे एक मायनिंग इंजीनियर ने शुरू किया था.

2 - नोकिया दरअसल एक शहर का नाम है जो कि फिनलैंड की Nokianvirta नाम की नदी के किनारे बसता है. इस नदी के नाम पर ही कंपनी का नाम भी नोकिया रखा गया था.

Nokiia 3310

3- मोबाइल फोन बनाने से पहले नोकिया कंपनी ने इलेक्ट्रिसिटी, रबर, केबल जैसे उत्पाद बनाए. बताया जाता है कि नोकिया रबर के बूट बनाया करती थी जिसे काफी पसंद भी किया जाता था. हालांकि अब इनकी बिक्री नहीं होती लेकिन जिनके पास भी यह बूट हैं, वह इसे बहुत ही सहेज कर रखते हैं.

4 - नोकिया की बात हो रही है तो नोकिया ट्यून को कैसे भूल सकते हैं. बताया जाता है कि यह धुन दरअसल 19वीं सदी के स्पैनिश संगीतकार फ्रांसिसको तरेगा की है. यह धुन नोकिया की इस कदर पहचान बन गई कि इसे इसके असली संगीतकार के नाम की जगह 'नोकिया ट्यून' के नाम से पहचाना जाने लगा.

5 - बात करते हैं फिनलैंड देश की जिसे नोकिया ने दुनिया भर में मशहूर कर दिया. जिस तरह कभी कभी एक बच्चा इतना अच्छा काम कर देता है कि उसके माता-पिता का नाम रोशन हो जाता है, कुछ उसी तरह नोकिया ने अपने देश का नाम दुनिया भर में रोशन कर दिया. हालांकि दिलचस्प बात यह है कि नोकिया, अपने देश फिनलैंड से भी पुराना ब्रांड है. क्योंकि जहां नोकिया की नींव 1865 के करीब रखी गई थी, वहीं फिनलैंड को स्वीडन और रूसी राज से स्वतंत्रता ही 1917 में मिली थी.

6 - साल 2000 में नोकिया इस कदर कामयाब कंपनी बनकर उभरी थी कि फिनलैंड के जीडीपी में उसका योगदान करीब 4 प्रतिशत था. हद तो तब हो गई जब अंतरराष्ट्रीय मोबाइल फोन मार्केट में इस छोटे से देश की इतनी बड़ी कंपनी का 41 प्रतिशत हिस्सा बन गया था.
First published: May 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर