इंटरनेट बैंकिंग बनाम मोबाइल बैंकिंग, जानें- क्या हैं इसके फायदे

hindi.moneycontrol.com

Updated: December 19, 2016, 8:34 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

नई दिल्ली। इन दिनों कैशलेस बैंकिंग की देशभर में चर्चा है लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसे कैसे करना चाहिए और इसके क्या फायदे हैं? जानें- इसे इस्तेमाल करने के लिए क्या तरीके और क्या सावधानियां जरूरी हैं।

इंटरनेट बैंकिंग क्या है? इंटरनेट के जरिए घर बैठे या चलते- फिरते कहीं से भी बैंकिंग मुमकिन है। बैंक की ब्रांच में जाना जरूरी नहीं है और बैंकों की लंबी लाइन से छुटकारा संभव है। इंटरनेट के जरिए बैलेंस चेक करना, फंड ट्रांसफर करना आसान हो गया है। एनईएफटी, आरटीजीएस और आईएमपीएस के माध्यम से पैसा ट्रांसफर करना आसान हो गया है।

इंटरनेट बैंकिंग बनाम मोबाइल बैंकिंग, जानें- क्या हैं इसके फायदे
इन दिनों कैशलेस बैंकिंग की देशभर में चर्चा है लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसे कैसे करना चाहिए और इसके क्या फायदे हैं?

नेट बैंकिंग के जरिए बिजली और मोबाइल बिल भी भर सकते हैं। लेकिन, ध्यान रखें कि नेट बैंकिंग का यूजर नेम और पासवर्ड किसी से शेयर ना करें। नेट बैंकिंग के लिए बैंक में अकाउंट होना जरूरी है और बैंक की ओर से यूनिक लॉग इन आईडी और पासवर्ड दिया जाता है। आईडी और पासवर्ड के बिना इंटरनेट बैंकिंग मुमकिन नहीं है। इंटरनेट बैंकिंग के जरिए आरटीजीएस, एनईएफटी और आईएमपीएस जैसे फंड ट्रांसफर के 3 तरीके उपयोग कर सकते हैं। आईएमपीएस के जरिए 24 घंटे कभी भी पैसा एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में भेजना संभव है।

अब जानें कि मोबाइल बैंकिंग क्या है? मोबाइल बैंकिंग नाम की ही तरह मोबाइल फोन पर की जाती है और ये किसी भी मोबाइल फोन से मुमकिन है। मोबाइल बैंकिंग के लिए स्मार्ट फोन होना जरूरी नहीं है। वहीं, आगे अब ये बताने की कोशिश कर रहे हैं कि इंटरनेट बनाम मोबाइल बैंकिंग। इंटरनेट बैंकिंग बैंक की साइट पर की जाती है और बैंक की साइट काफी बड़ी होती है। लेकिन मोबाइल बैंकिंग ऐप के जरिए होती है। मोबाइल ऐप ग्राहक की जरूरत के हिसाब से डिजाइन किया जाता है।

मोबाइल ऐप ग्राहक को सीधे बैंक से कनेक्ट कर देता है। ऐप से बार- बार बैंक का साइट एड्रेस डालने के झंझट से मुक्ति मिल जाती है, लेकिन इसके के लिए ऐप डाउनलोड करना जरूरी है। मोबाइल बैंकिंग के लिए स्मार्ट फोन जरूरी नहीं है। मोबाइल और इंटरनेट बैंकिग से आप केवल कैश नहीं निकाल सकते हैं। यूपीआई और आईएमपीएस के जरिए आप छोटा पेमेंट भी कर सकते हैं। मोबाइल के जरिए दूध वाले और सब्जी वाले का पेमेंट कर सकते हैं। साधारण मोबाइल से भी मोबाइल बैंकिंग कर सकते हैं।

First published: December 19, 2016
facebook Twitter google skype whatsapp