फेसबुक लाने वाला है नई टेक्नोलॉजी, सिर्फ सोचकर कर सकेंगे टाइप

News18Hindi
Updated: April 20, 2017, 1:44 PM IST
फेसबुक लाने वाला है नई टेक्नोलॉजी, सिर्फ सोचकर कर सकेंगे टाइप
फेसबुक के इस सीक्रेट प्रोजेक्ट का नाम 'बिल्डिंग 8' है.
News18Hindi
Updated: April 20, 2017, 1:44 PM IST
फेसबुक ऐसी टेक्नोलॉजी पर काम कर रहा है, जिसमें आप ब्रेन का इस्तेमाल कर टाइपिंग कर पाएंगे. फेसबुक के इस सीक्रेट प्रोजेक्ट का नाम 'बिल्डिंग 8' है. सैन होजे में दो दिन तक चली डेवलपर कॉन्फ्रेंस F8 में कंपनी ने इसका खुलासा किया.

फेसबुक इंजीनियरिंग की वाइस प्रेसिडेंट रेगिना डुगन ने बताया कि 60 लोगों की एक टीम ह्यूमन ब्रेन से कंट्रोल होने वाले कम्प्यूटर इंटरफेस पर काम कर रहे हैं. यह सिस्टम यूजर की न्यूरल एक्टिविटी डिकोड करके 100 शब्द प्रति मिनट टाइम करने में सक्षम होगा. यह किसी भी इंसान द्वारा स्मार्टफोन पर टाइप करने की स्पीड से पांच गुना ज्यादा तेज है.

ये भी पढ़ें : अब वर्चुअल वर्ल्ड में जी सकेंगे आप, फेसबुक ने लॉन्च की स्पेसेज एप

फेसबुक के मुताबिक, यह टेक्नोलॉजी ऑगमेंटेड रियलटी (AR) डिवाइसेज के लिए अच्छा इनपुट टूल साबित होगी. यह उन लोगों के लिए भी मददगार होगी, जो कम्युनिकेशन डिसॉर्डर से जूझ रहे हैं. F8 में एक ऐसे कॉन्सेप्ट का डेमन्स्ट्रेशन भी किया, जिससे लोग त्वचा के जरिए आवाज का अनुभव कर सकेंगे.

अभी सिर्फ कॉन्सेप्ट, हकीकत बनने में लगेगा लंबा समय

हालांकि, इस प्रोजेक्ट को दुनिया के सामने आने में वक्त लग सकता है. इस सिस्टम में इस्तेमाल होने वाली टेक्नोलॉजी फिलहाल मौजूद नहीं है. 'ब्रेन इंटरफेस सिस्टम' को डेवलप करने के लिए फेसबुक को नॉन-इन्वेसिव सेंसर्स की जरूरत होगी, जो बाल, त्वचा और इंसानी खोपड़ी के जरिए ब्रेन एक्टिविटी को माप सकें. मौजूदा ऑप्टिकल इमेजिंग सेंसर्स इतने तेज नहीं हैं कि ऐसा अनुभव पैदा कर सकें, जैसा बिल्डिंग 8 टीम तैयार करना चाह रही है.

ये भी पढ़ें : अब पासवर्ड रीसेट के लिए जरूरी नहीं होगा ईमेल, फेसबुक करेगा मद

बता दें कि फेसबुक का 'साइलेंट स्पीच इंटरफेस' फ्यूचर की उन कई टेक्नोलॉजी में शामिल है, जिनके बारे में F8 कॉन्फ्रेंस में बताया गया.

 
First published: April 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर