14 साल बाद खुलेगा अंडरग्राउंड पोस्टल रेलवे, रोज भेजे जाते थे 40 लाख खत

News18Hindi
Updated: June 20, 2017, 7:13 AM IST
14 साल बाद खुलेगा अंडरग्राउंड पोस्टल रेलवे, रोज भेजे जाते थे 40 लाख खत
यह अंडरग्राउंड पोस्टल रेलवे दिन में 22 घंटे ऑपरेट होती थी.
News18Hindi
Updated: June 20, 2017, 7:13 AM IST
लंदन का अंडरग्राउंड पोस्टल रेलवे 14 साल बाद पब्लिक के लिए खुलने जा रहा है. इसे 28 जुलाई को खोला जाएगा. यहां विजिटर्स को पहाड़ों से गुजरते स्टेशनों के माध्यम से 10.4 किलोमीटर तक सवारी करने का मौका मिलेगा. अब यह एक म्यूजियम में तब्दील हो चुका है. यह पोस्टल रेलवे सेंट्रल लंदन के क्लेरकेनवेल में स्थित है.

दिखेगी हिस्ट्री की झलक
यहां ऑडियो-विजुअल माध्यम के जरिए इस अंडरग्राउंड पोस्टल रेलवे की हिस्ट्री दिखने को मिलेगी. इस बनाने की शुरुआत 1915 में हुई थी. उन दिनों डाक गाड़ियों की वजह से लंदन की सड़कों पर काफी ट्रैफिक होने लगा था और उससे ही निजात पाने के लिए इसे बनाया गया था. साल 1927 में यह बनकर तैयार हुआ और पब्लिक के लिए खुला था.

दिन में 22 घंटे होती थी संचालित

यह अंडरग्राउंड पोस्टल रेलवे दिन में 22 घंटे ऑपरेट होता थी. रोज 40 लाख खतों को इसके जरिए भेजा जाता था. मई 2003 में इसे बंद कर दिया गया था. अमेरिका की पोस्टल सर्विस कंपनी रॉयल मेल का कहना था कि रोड ट्रांसपोर्ट के मुकाबले इसके जरिए खतों, पोस्टकार्ड और कोरियर को भेजना काफी मंहगा पड़ा रहा है.
First published: June 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर