स्नैपचैट ने की गलती और नुकसान उठा रहा है स्नैपडील!

News18Hindi
Updated: April 17, 2017, 1:00 PM IST
स्नैपचैट ने की गलती और नुकसान उठा रहा है स्नैपडील!
Image Source: File Photo
News18Hindi
Updated: April 17, 2017, 1:00 PM IST

स्नैपचैट के सीईओ इवान स्पीगल के भारत को गरीब देश कहने से नाराज़ लोग अब स्नैपडील से बदला ले रहे हैं. लोग स्नैपचैट और स्नैपडील को एक समझकर स्‍नैपडील के ऐप को अनइंस्‍टाल कर रहे हैं. यही नहीं सोशल मीडिया पर भी यूजर्स ई-कॉमर्स कंपनी स्‍नैप डील पर निशाना साध रहे हैं.

व्हाट्सएप या फेसबुक ग्रुप में हैं तो जान लें ये नए निर्देश...

गलती स्‍नैपचैट से मुश्‍किल में स्‍नैपडील

संडे को स्‍नैप चैट के सीईओ की ओर से भारत को गरीब देश कहने के बयान के बाद कुछ लोग बेहद गुस्‍से में नजर आ रहे थे.  नाम के कन्फ्यूजन की वजह से लोगों का गुस्सा सोशल नेटवर्किंग ऐप स्‍नैपचैट की बजाय ई-कॉमर्स स्‍नैपडील की ऐप पर उतरा.

लोगों ने स्‍नैपचैट को अनइंस्‍टॉल करने की बजाय स्‍नैपडील को ही डिलीट करना शुरू कर दिया.  हालांकि बाद में सोशल मीडिया पर कई लोग स्‍नैपडील और स्‍नैपचैट के बीच में अंतर बताते हुए भी नजर आए.

भारत को गरीब देश बताने वाले स्नैपचैट को मिला ये सबक

यह कहा था स्‍नैप चैट के सीईओ ने

अमेरिका की एक न्यूज वेबसाइट वैरायटी के अनुसार, शनिवार को स्नैपचैट के पुराने कर्मचारी एंटोनियो पोमपिआनो ने बताया कि कंपनी के सीईओ इवान स्पीगेल ने सितंबर 2015 को उनसे कहा था कि यह ऐप केवल अमीर लोगोंके लिए है. मैं इसे गरीब देशों जैसे भारत और स्पेन में नहीं ले जाना चाहता.

First published: April 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर