पहली नजर में ही लुभा लेता है रहेजा कॉर्प का विस्टा प्रीमियर

CNBC आवाज
Updated: June 20, 2016, 5:34 PM IST
पहली नजर में ही लुभा लेता है रहेजा कॉर्प का विस्टा प्रीमियर
चार फेज में प्लान किया गया विस्टा प्रीमियर एक टाउनशिप प्रोजेक्ट है, जिसमें से तीन फेज बनकर तैयार हो चुके हैं और चौथे पर काम जारी है।
CNBC आवाज
Updated: June 20, 2016, 5:34 PM IST
पुणे। पुणे का एमआईबीएम इलाका तेजी से रियल एस्टेट डेवलपरों की पसंद बनता जा रहा है। एमआईबीएम शहर से बखूबी कनेक्ट है। पुणे रेलवे स्टेशन करीब 9 किलोमीटर तो एयरपोर्ट यहां से 15 किलोमीटर की दूरी पर है। हड़पसर और कोंडवा जैसे इलाकों से सीधा जुड़ा हुआ है। यहां तमाम रेजिडेंशियल और कमर्शियल प्रोजेक्ट्स चल रहे हैं जिनमें से एक है रहेजा कॉर्प का प्रोजेक्ट विस्टा प्रीमियर।

चार फेज में प्लान किया गया विस्टा प्रीमियर एक टाउनशिप प्रोजेक्ट है, जिसमें से तीन फेज बनकर तैयार हो चुके हैं और चौथे पर काम जारी है। विस्टा प्रीमियर में 2000 घर बनाए जाने हैं जिसमें एक तिहाई हिस्सा 2 बीएचके फ्लैट का होगा। 35-40 फीसदी जमीन पर 3 बीएचके और बाकि बचे हिस्से पर 4 बीएचके और ड्यूप्लेक्स बनाए जाने हैं। विस्टा प्रीमियर के 3 बीएचके फ्लैट में एंट्री करते ही सबसे पहले नजर आता है 4.5x 8.6 का फॉयर एरिया यानी गैलरी। उसके ठीक बगल में किचन है।

लिविंग कम डायनिंग एरिया की बात करें तो ये 21.9x18 का है जो कि 3 बीएचके को देखते हुए काफी शानदार कहा जा सकता है। लिविंग एरिया में 7.8x8.6 की ओपन बालकनी दी गई है। इस पूरे लिविंग एरिया में विट्रिफाइड टाइल्स लगाई जाएंगी। फ्लैट में किचन का डायमेंशन 11.6x8 है जो एक अच्छा साइज माना जाएगा है। किचन के अंदर डबल साइड प्लेटफार्म बनाया गया है। किचन के साथ ही एक सबसे अच्छी बात ये है कि इसका डिश वॉश एरिया बिल्कुल अलग कर दिया गया है, यानि किचन में आपको जूठे बर्तनों का नजारा देखने को नहीं मिलेगा।

डिश वॉश एरिया के साथ ही 5X13 का यूटीलिटी एरिया दिया गया है, इस जगह का इस्तेमाल आप स्टोरेज के तौर पर कर सकते हैं। यूटीलिटी एरिया से लगा हुआ एक छोटा टॉयलेट भी है ताकि इस जगह को आप सर्वेंट रूम के तौर पर भी तब्दील कर सकें। यूटिलिटी एरिया में छोटी विंडो भी दी गई है जो इस हिस्से को ताजी हवा से भरपूर रखेगी। और साथ ही अलग दरवाजा भी यहां दिया गया ताकि आपको बार-बार मेन डोर खोलने की जरूरत न हो।
First published: June 20, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर