बिल्डर ने लटकाया पजेशन तो देना होगा 11 फीसदी तक जुर्माना

News18India.com

Updated: June 30, 2016, 3:54 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

नई दिल्ली। अगर आपने किसी प्रोजेक्ट में फ्लैट बुक करा रखा है और समय-सीमा बीतने के बावजूद बिल्डर ने आपको अपने फ्लैट का पजेशन नहीं दिया है तो परेशान होने की बारी आपकी नहीं बल्कि उस बिल्डर की है। घर देने में देरी करने वाले बिल्डरों को अब खरीदारों को उनके द्वारा चुकाई गई रकम का 11 फीसदी तक मुआवजा देना पड़ सकता है। केंद्र सरकार ने रियल एस्टेट रेगुलेटर बिल के कानून बनने के बाद नियमों का जो ड्राफ्ट तैयार किया है उसमें ये प्रावधान भी शामिल है।

गौरतलब है कि एक मई से रियल एस्टेट रेगुलेटर कानून लागू हो चुका है। अब केंद्र सरकार इसके लिए नियम तैयार कर रही है, जिसके आधार पर राज्य अपने यहां रियल एस्टेट रेगुलेटर का खाका तैयार करेंगे। इस रेगुलेटर का उद्देश्य है कि बिल्डरों की मनमानी पर रोक लगाई जाए, और घर खरीदार के अधिकारों में बढ़ोतरी की जाए। केंद्र सरकार ने इसके लिए नियमों का ड्राफ्ट तैयार कर उस पर सुझाव मांगे हैं।

बिल्डर ने लटकाया पजेशन तो देना होगा 11 फीसदी तक जुर्माना
अगर आपने किसी प्रोजेक्ट में फ्लैट बुक करा रखा है और समय-सीमा बीतने के बावजूद बिल्डर ने आपको अपने फ्लैट का पजेशन नहीं दिया है तो परेशान होने की बारी आपकी नहीं बल्कि उस बिल्डर की है।

नए नियमों के तहत हर प्रोजेक्ट को राज्य के रियल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी के पास रजिस्टर कराना जरूरी होगा। इसके अलावा बिल्डर को अपने प्रोजक्ट की पूरी जानकारी अथॉरिटी को देना होगा। बिल्डर घर देने पर देरी करते हैं तो उन्हें 11 फीसदी तक का मुआवजा घर खरीदारों को देना पड़ सकता है। ड्राफ्ट नियमों पर मंत्रालय ने 8 जुलाई तक राय मांगी है।

First published: June 30, 2016
facebook Twitter google skype whatsapp