महाराष्ट्र की नई हाउसिंग पॉलिसी घोषित, 50 साल पुरानी इमारतों के रिडेवलपमेंट का रास्ता साफ

CNBC आवाज
Updated: September 5, 2016, 6:01 PM IST
महाराष्ट्र की नई हाउसिंग पॉलिसी घोषित, 50 साल पुरानी इमारतों के रिडेवलपमेंट का रास्ता साफ
महाराष्ट्र के हाउसिंग मिनिस्टर प्रकाश मेहता का कहना है कि आने वाले वक्त में हाउसिंग पॉलिसी में और बड़े बदलाव किए जाएंगे, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को घर दिलाया जा सके।
CNBC आवाज
Updated: September 5, 2016, 6:01 PM IST
मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने नई हाउसिंग पॉलिसी का ऐलान कर दिया है। नई पॉलिसी में सरकार का फोकस अफोर्डेबल हाउसिंग पर है। अफोर्डेबल हाउसिंग को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार ने कल्स्टर रिडेवलपेंट के नियमों को आसान बनाने का एलान किया है। इसके अलावा अब म्हाडा की 50 साल से पुरानी इमारतों के रिडेवलपमेंट का रास्ता भी साफ हो गया है।

अब म्हाडा की इमारतों के रीडेवलपमेंट के लिए 4 तक का एफएसआई दिया जा सकेगा। इसमें 2000 स्क्वेयर मीटर से कम एरिया के प्लॉट पर 3 का एफएसआई मिलेगा, जिसमें रिडेवलपमेंट के बाद बिल्डर को किसी तरह का हाउसिंग स्टॉक म्हाडा को नहीं देना होगा। यहां बिल्डर को सिर्फ म्हाडा को प्रीमियम चुकानी होगी।

अगर किसी जगह पर 3 से ज्यादा की एफएसआई देना संभव हुआ तो वहां पर बिल्डर को म्हाडा को प्रीमियम के साथ-साथ हाउसिंग स्टॉक भी देना होगा। माना जा रहा है कि पॉलिसी में इस बदलाव के बाद बिल्डर म्हाडा की बिल्डिंग के रिडेवलपमेंट के लिए आगे आएंगे। इसके अलावा हाउसिंग पॉलिसी में एयरपोर्ट के पास स्लम में रहने वालों को वहीं पर बसाने का भी प्रावधान है।

महाराष्ट्र के हाउसिंग मिनिस्टर प्रकाश मेहता का कहना है कि आने वाले वक्त में हाउसिंग पॉलिसी में और बड़े बदलाव किए जाएंगे, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को घर दिलाया जा सके।
First published: September 3, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर