'मेरे पीरियड्स क्‍या कोई लग्जरी हैं, जो मुझे टैक्‍स भरना पड़ता है'


Updated: April 20, 2017, 5:05 PM IST
'मेरे पीरियड्स क्‍या कोई लग्जरी हैं, जो मुझे टैक्‍स भरना पड़ता है'
Symbolic Image

Updated: April 20, 2017, 5:05 PM IST
‘शी सेज़’ (she says) नाम के एक ग्रुप ने ट्विटर पर #LahuKaLagaan नाम का एक कैंपेन चलाया है. यह कैंपेन सेनेटरी नैपकिन पर लगे टैक्स को हटवाने के लिए है. ट्विटर पर बहुत सारी लड़कियां आगे आ रही हैं और इस कैंपेन को सपोर्ट कर रही हैं. हैशटैग्स में वित्त मंत्री अरुण जेटली को टैग करके अपील की जा रही है कि सेनेटरी नैपकिन्स पर लगे टैक्स को हटा दिया जाए.


गर्लियापा ने ‘शी सेज़’ के साथ मिलकर ये वीडियो बनाया है, जो ट्विटर पर खूब चल रहा है. अदिति राव हैदरी ने अपने ट्वीट में कहा है - सैनिटरी नैपकिन लग्जरी नहीं जरूरत हैं. इन्हें इतना सस्ता रखना चाहिए कि उन्हें ज्यादा से ज्यादा महिलाएं खरीद सकें.

वीडियो में हल्की-फुल्‍की बातें ही कही गई हैं लेकिन औरतों की सेहत के हिसाब से देखा जाए तो यह काफी गंभीर बातें हैं, जिन पर सरकार को विचार करना चाहिए. भारत में लगभग पांच में से एक ही औरत पैड खरीद पाती है क्योंकि न तो उसके पास ठीक-ठीक जानकारी है और न ही खरीदने के लिए पैसे. इस कैंपेन का साथ देने मशहूर एक्टर मल्लिका दुआ और आर. जे. आभा भी सामने आईं हैं. दोनों ने सोशल मीडिया पर इस कैंपेन को लेकरअपने वीडियो अपलोड किए हैं.
First published: April 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर