इंदौर के अस्पताल पर परिजनों का आरोप- मौत के बाद भी बिल बढ़ाने के लिए किया इलाज

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: May 18, 2017, 11:40 PM IST
इंदौर के अस्पताल पर परिजनों का आरोप- मौत के बाद भी बिल बढ़ाने के लिए किया इलाज
निजी अस्पताल में हंगामा करते परिजन.
ETV MP/Chhattisgarh
Updated: May 18, 2017, 11:40 PM IST
मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में बुधवार रात एक वृद्ध महिला की मौत के बाद परिजनों ने एक निजी अस्पताल में जमकर हंगामा किया. परिजनों का आरोप था कि महिला की मौत के बाद भी डॉक्टर बिल बढ़ाने के लिए इलाज करते रहे.

मामला शहर के गोकुलदास अस्पताल का है. यहां 80 वर्षीय नवलीबाई मेहता को नस में परेशानी के चलते भर्ती किया गया था. परिजनों के अनुसार शाम को ही नवलीबाई की मौत हो गयी थी. उसके बावजूद डाक्टर उनका इलाज करते रहे ताकि बिल बढ़ जाये. जब यह बात परिजनों को पता चली तो परिजनों ने हंगामा कर दिया.

अस्पताल प्रशासन का कहना है कि परिजनों का आरोप गलत है. महिला को जो इलाज दिया गया है उसी का बिल बनाया गया है.

हंगामे की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और लोगों को शांत करवाया. गोकुलदास अस्पताल में इससे पहले भी इस तरह के मामले आ चुके हैं. लेकिन प्रशासन ने अब तक गोकुलदास अस्पताल के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है.

मृतक महिला के पोते मोहित मेहता ने कहा कि उनकी दादी शाम साढ़े पांच बजे गुजर गई थी. खुद डॉक्टरों ने यह बात कही है.

वहीं अस्पताल के बिल में दादी को शाम छह बजे खून चढ़ाने की बात कही गई है. इतना ही नहीं साढ़े पांच बजे के भी दादी को कई तरह की दवाइयों दी गई, ऐसा दावा बिल में किया गया है.
First published: May 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर