गोमांस ही ले जा रहा था 12 साल पुराना बीजेपी का मुस्लिम कार्यकर्ता, गिरफ्तार

News18Hindi
Updated: July 17, 2017, 1:21 PM IST
गोमांस ही ले जा रहा था 12 साल पुराना बीजेपी का मुस्लिम कार्यकर्ता, गिरफ्तार
युवक को पीटते लोग (फोटो: एएनआई)
News18Hindi
Updated: July 17, 2017, 1:21 PM IST
नागपुर के काटोल तहसील के भारसिंगी के बीजेपी कार्यकर्ता सलीम शाह को नागपुर ग्रामीण पुलिस ने गो हत्या प्रतिबंधित कानून के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है. न्यायालय ने भी सलीम पर लगे आरोपों के तहत उसे एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजने का आदेश दिया है.

सलीम शाह को तथाकथित गोरक्षकों गोमांस ले जाते वक्त जानलेवा मारपीट की थी. वही प्रयोगशाला का रिपोर्ट आने में कहा गया है कि सलीम के स्कूटर से मिला मांस बैल का होने की पुष्टि हुई थी. महाराष्ट्र में गोवंश प्रतिबंधित कानून लागू है. जिसके तहत गाय बैल का मांस रखना या बेचना अपराध है .

वही भारतीय जनता पार्टी के अल्पसंख्यक सेल का काटोल तहसील का अध्यक्ष पद पर रहने वाले सलीम शाह को गोमांस पाये जाने के बाद पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है.

क्या था पूरा मामला -

नागपुर में एक आदमी को अपनी स्कूटी की डिक्की में गोमांस ले जाने के आरोप में कुछ लोगों ने बुरी तरह से पीट दिया था. घटना उस वक्त हुई जब सलीम इस्माइल शाह नाम का आदमी अपनी स्कूटी से जा रहा था. एक बस स्टॉप के पास कुछ लोगों ने उसे रोका और गाय का मांस ले जाने का आरोप लगाते हुए उसकी पिटाई कर दी.

बता दें कि एक बयान में इस्माइल ने कहा कि वह बीजेपी कार्यकर्ता है. वह पिछले 12 साल से पार्टी के साथ जुड़ा है और काम कर रहा है.

नागपुर जिले के भारसिंगी गांव में बुधवार की सुबह एक्टिवा की डिक्की में मांस ले जाने वाले सलीम इस्माइल शाह पास के ही काटोल गांव का रहने वाला है. सुबह वह अपनी एक्टिवा से भारसिंगी गांव से गुजर रहा था.

भारसिंगी बस स्टॉप के सामने अचानक कुछ लोगों ने उन्हें पकड़ लिया और पिटाई करते हुए गाय काटकर उसका मांस डिक्की में ले जाने का आरोप लगाया. सलीम चिल्लाते रहे कि यह गोमांस नहीं है और मैंने गाय नहीं काटी. लेकिन भीड़ उन्हें पीटती रही.

पुलिस ने छुड़ाया
घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे भीड़ से छुड़वाया. पुलिस ने मारपीट का मामला दर्ज कर 4 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. हालांकि, अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. एक्टिवा की डिक्की से मिले मांस को जप्त कर पुलिस ने जांच के लिए प्रयोगशाला में भिजवा दिया है.

प्रधानमंत्री ने की थी अपील
बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ दिन पहले गुजरात से अपील की थी कि गौ रक्षा की नाम पर दादागिरी और किसी से मारपीट न की जाए. इसके बावजूद गौ रक्षा के नाम पर कानून अपने हाथ में लेने की और मांस का व्यापार करनेवालो को पीटने की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं.

फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट, युवक को 11 जूतों और 21 हजार जुर्माने की सजा

ओडिशा: गर्भवती महिला को कंधे पर लेकर उफनती नदी पार कर पहुंचे अस्पताल
First published: July 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर