बोधगया धमाके के CCTV फुटेज जारी, देखें

News18India

Updated: July 8, 2013, 11:37 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

गया। भगवान बुद्ध के शहर बोधगया में हुए 10 धमाके को एक दिन हो गया है लेकिन जांच एजेंसी के हाथ अब भी खाली हैं। हालांकि मंदिर समिति ने धमाकों की सीसीटीवी फुटेज जारी की है। इन तस्वीरों में महाबोधि वृक्ष के पास धमाका कैद है। धमाके के बाद मौके पर मौजूद लोगों में अफरा तफरी मच गई थी। NIA और NSG की टीम मौके से सुराग तलाश रही है। वहीं एक शख्स को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

20 मिनट, 13 बम और 10 धमाके को अंजाम दिया गया। बोध गया, ये पवित्र स्थल किसकी साजिश का शिकार हुआ। कौन है जिसने बुद्ध की इस भूमि को खून से रंगने की कोशिश की। किसने एक के बाद एक मंदिर परिसर में 13 बम रखे और किसी को भनक तक नहीं लगी। किसने इस शांति भूमि में अशांति फैलाने की कोशिश की। बोध गया में परिसर में स्थित में ये वो पेड़ है जिसके नीचे बैठकर भगवान बुद्ध को धर्म और अहिंसा के मार्ग का ज्ञान हुआ। दुनिया भर के बौद्धों की आस्था का केंद्र है ये वृक्ष। बोध गया की आत्मा है ये वृक्ष। इसी वृक्ष के करीब रखा था 13 बमों से एक बम। सीसीटीव फुटेज के मुताबिक सुबह 5 बजकर, 40 मिनट, 27 सेकेंड पर महाबोधि वृक्ष की बाईं तरफ एक तेज धमाका होता है। हवा में कई चीजें उड़ती हुई नजर आती हैं। महज 20 मिनट में 10 धमाके। साजिश थी 13 धमाकों की। हर बम से छोटा सिलेंडर लगा हुआ था ताकि धमाके से ज्यादा नुकसान हो।

गौरतलब है कि धमाके के वक्त और धमाके के बाद का प्रशासन ने सीसीटीवी फुटेज जारी कर दिया और जांच एजेंसियां दावा कर रही हैं धमाके के पहले का फुटेज भी उनके पास मौजूद है, ऐसे में क्या माना जाए। क्या जांच एजेंसियां जल्द ही उन लोगों तक पहुंच जाएंगी, जिन्होंने इस धमाके को अंजाम दिया है?

तारादेवी मंदिर के करीब भी तकरीबन 5 बजकर 41 मिनट के बाद धमाका हुआ। यहां भी वही स्थिति नजर आई। यहां पर भी सीसीटीवी फुटेज में धमाके की तस्वीरें नजर नहीं आ रही है। लेकिन लोग भागते हुए मंदिर के अंदर नजर आ रहे हैं। ये धमाके के बाद की तस्वीरें हैं। एक के बाद एक दस धमाके। हर धमाका लोगों को और डरा रहा था।

जांच एजेंसियों की माने तो ये धमाके के बाद उनके हाथ एक आईडी कार्ड लगा है। जिसके आधार पर उन्होंने विनोद मिस्त्री नाम के व्यक्ति को हिरासत में लिया है। उससे लगातार पूछताछ जारी है। लेकिन सच तो ये है कि तमाम जांच के बावजूद अभी भी कोई भी जांच एजेंसी पुख्ता तौर पर कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं है। इन धमाकों को किसने अंजाम दिया ये बताने की स्थिति में नहीं हैं।

बोधगया में धमाकों की जांच एनआईए कर रही है। लेकिन अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि आखिर इन धमाकों को किसने अंजाम दिया है। एनआईए सूत्रों से खबर ये भी है कि वो बोधगया धमाकों के सिलसिले में पश्चिम बंगाल के रहने वाले अनवर हुसैन नाम के एक शख्स से पूछताछ कर सकती है। अनवर को शनिवार रात यानि धमाकों से एक दिन पहले कोलकाता पुलिस ने नादिया जिले से गिरफ्तार किया था। अनवर पर आरोप है कि उसके संबंध आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदिन से हैं। उसपर ये भी आरोप है कि वो आतंकियों को आरडीएक्स मुहैया कराता था। आईबीएन7 को मिली जानकारी के मुताबिक एनआईए को शक है कि बोधगया में हुए धमाके के बारे में भी अनवर हुसैन काफी कुछ जानता है। एनआईए अब अनवर से पूछताछ कर सकती है।

First published: July 8, 2013
facebook Twitter google skype whatsapp