'आसाराम ने कमरे की लाइट बंद कर दी और...'

News18India

Updated: September 2, 2013, 3:36 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

नई दिल्ली। यौन शोषण के आरोपों से घिरे आसाराम पर उनके भक्तों में से एक भक्त की बेटी ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। मामला संगीन था, इसके बाद भी आसाराम पर कानून का शिकंजा कसने में 12 दिन लग गए। आसाराम पर जब-जब ऐसे संगीन आरोप लगे हैं, इसी तरह का ड्रामा हुआ है।

आध्यात्मिक गुरु का चोला ओढ़ने वाले आसाराम पर 16 साल की नाबालिग लड़की ने यौन शोषण के संगीन इल्जाम लगाए हैं। ये मामला आसाराम के जोधपुर के आश्रम का है। पीड़ित लड़की के अनुसार 'आसाराम ने कमरे की लाइट बंद कर दी और मुझे पीछे के कमरे में बुला लिया। उन्होंने कमरा बंद कर दिया और मेरे साथ छेड़खानी शुरू कर दी। मैंने चिल्लाना शुरू किया तो मेरे माता-पिता को मारने की धमकी देने लगे, और मेरा मुंह बंद कर दिया। उन्होंने मुझे चूमा, आपत्तिजनक तरीके से मुझे छुआ।'

'आसाराम ने कमरे की लाइट बंद कर दी और...'
पीड़ित लड़की के अनुसार 'आसाराम ने कमरे की लाइट बंद कर दी और मुझे पीछे के कमरे में बुला लिया और मेरे साथ छेड़खानी शुरू कर दी।

एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक ये आरोप खुद को संत कहलवाने वाले आसाराम पर दर्ज एफआईआर में लगे हैं। 16 साल की नाबालिग लड़की ने आसाराम पर यौन शोषण के आरोप लगाए हैं। जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर की रहने वाली ये नाबालिग मध्यप्रदेश में छिंदवाड़ा में मौजूद आसाराम के गुरुकुल में 12वीं की छात्रा है।

इस लड़की का कहना था कि तबीयत खराब होने की बजह से उसे छिंदवाड़ा के गुरुकुल के हॉस्टल से आसाराम के जोधपुर आश्रम बुलाया गया। नाबालिग लड़की के बयान के मुताबिक 15 अगस्त को आसाराम अपने एक सहयोगी के साथ जोधपुर के इस आश्रम में पहुंचे। वहां उन्होंने उसे एक अलग कमरे में बुलाया। और कमरा बंद कर उसका यौन शोषण किया।

आसाराम पर आंखमूंद कर विश्वास करने वाले उसके पिता अब आसाराम के लिए फांसी मांग रहे हैं। पीड़ित लड़की के पिता का कहना है कि आसाराम ढोंगी है उसे फांसी की सजा मिलनी चाहिए। बेटी के साथ हुई घिनौनी हरकत का पता लगने के बाद 20 अगस्त को ये पिता बेटी को लेकर दिल्ली के कमलानगर थाने में पहुंचा, जहां एफआईआर दर्ज हुई।

अंग्रेजी अखबार के मुताबिक लड़की ने आरोप लगाया कि ‘आसाराम ने जबर्दस्ती करते हुए मेरे भी कपड़े उतारने की कोशिश की, और मैं रोने लगी। उन्होंने फिर से मेरा मुंह बंद कर दिया। उन्होंने मेरे साथ एक घंटे से ज्यादा समय तक यह सब किया। जब मैं कमरे से बाहर जाने लगी तो उन्होंने एक बार फिर मुझे मुंह न खोलने के लिए धमकाया।'

पिता के मुताबिक ये सब तब हुआ जब वो खुद पत्नी के साथ जोधपुर में कुटिया के बाहर मौजूद थे। दोनों आसाराम के भक्त थे, उनके पास शक की कोई बजह नहीं थी।

नाबालिग लड़की की शिकायत पर जो धाराएं आसराम पर लगाई हैं वो बेहद संगीन है। पुलिस ने आसाराम पर धारा 376 यानी यौन उत्पीड़न, धारा 342 यानी जबरन बंधक बना कर रखना, धारा 506 यानी जान से मारने की धमकी देना और पॉक्सो यानी प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन अगेन्स्ट सेक्सुअल ऑफेन्स के तहत मामला दर्ज किया है।

अगर एक 16 साल की बेटी के पिता के इन आरोपों में दम है तो ये मामला सिर्फ एक नाबालिग के यौन शोषण का नहीं है। ये मामला लाखों की आस्था के टूटने का है। भरोसे के कत्ल का है।

First published: September 2, 2013
facebook Twitter google skype whatsapp