सोशल मीडिया पर वीडियो डालने को लेकर सेना प्रमुख भड़के, बोले- मुझसे बात करें जवान

Agencies
Updated: January 13, 2017, 3:10 PM IST
सोशल मीडिया पर वीडियो डालने को लेकर सेना प्रमुख भड़के, बोले- मुझसे बात करें जवान
फोटो: आर्मी चीफ बिपिन रावत (पीटीआई)
Agencies
Updated: January 13, 2017, 3:10 PM IST
बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव के वीडियो मैसेज में बीएसएफ कैंप में खराब खाने को लेकर लगाए आरोपों पर उठे बवाल के बाद अब आर्मी चीफ बिपिन रावत ने खुद संज्ञान लिया है.

ये भी पढ़ें- देश के लिए जान देने को तैयार जवान की जुबानी, हमारे हिस्से का खाना बेच देते हैं बड़े अधिकारी


सेनाध्यक्ष ने कहा कि अब हर आर्मी हेडक्वार्टर में शिकायत पेटी होगी, जहां कोई भी अपनी शिकायत लिखित रूप से जमा करा सकेगा. उन्होंने आश्वासन दिया कि इस पेटी को खुद खोलेंगे और इस पर कार्रवाई करेंगे.

ये भी पढ़ें: सीआरपीएफ जवान का दर्द- ड्यूटी सबसे ज्यादा हम करें, तकलीफ भी हम ही झेलें



यदि कोई फौजी अपना नाम छुपाना चाहता है तो यकीन मानिए हम उनकी पहचान सार्वजनिक नहीं करेंगे. यदि किसी को किसी भी तरह की शिकायत है वो मुझसे सीधे भी कह सकता है.

बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव के वीडियो मैसेज को लेकर पूछे गए सवाल पर बिपिन रावत ने कहा कि यदि उसकी शिकायत पर कोई कदम नहीं उठाया गया तो उसके पास दूसरे तरीके भी थे. वह अपनी शिकायत वरिष्ठ अधिकारियों के सामने रख सकता था.

ये भी पढ़ें- बीएसएफ जवान के आरोपों पर पत्नी ने भी लगाई मुहर, बोली- रोटी की मांग करना गलत नहीं


यह कहना बिल्कुल गलत है कि कहीं तालमेल का अभाव है. हो सकता है कि वह (तेज बहादुर) जवाब से संतुष्ट नहीं होगा या फिर वह खुश नहीं होगा.

फौजी चंदू भुवन के मसले पर रावत ने कहा कि पाकिस्तान ने भरोसा दिलाया है कि वह उसके साथ है. उन्होंने कहा कि किसी सैनिक को जब दूसरे मुल्क की फौज गिरफ्तार करती है तो उसको वापस लेने की एक प्रक्रिया होती है. इसमें थोड़ा वक्त लगता है.

ये भी पढ़ें- जल्द भारत आएगा सैनिक चंदू, पाक की जांच खत्म होने की ओर


गौरतलब है कि उरी आतंकी हमले के बार भारतीय सेना की ओर से की गई सर्जिकल स्ट्राइक वाले दिन चंदू चव्हाण गलती से सीमा पर चला गया था. इसके बाद उसे पाकिस्तानी सेना ने उसे गिरफ्तार कर लिया था. इसके बाद से चंदू पाकिस्तान फौज की गिरफ्त में है.
First published: January 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर