यूपी जीत का बोनस: अब बीजेपी ही तय करेगी अगला राष्ट्रपति

News18Hindi

Updated: March 12, 2017, 11:18 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

शनिवार को आए देश के पांच राज्यों के चुनाव परिणामों में से बीजेपी ने यूपी और उत्तराखंड में बहुमत हासिल किया है. बंपर जीत के साथ ही बीजेपी राष्ट्रपति भी अपनी पसंद का चुन पाएगी. मौजूदा राष्ट्रपति डॉ प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 25 जुलाई को समाप्त हो रहा है.

देश के सबसे बड़े राज्य यूपी में जीत दर्ज करने वाली की राष्ट्रपति चुनाव के लिए स्थिति पूरी तरह मजबूत हो गई है. इन चुनावों से पहले बीजेपी को अपनी पसंद का राष्ट्रपति बनाने के लिए करीब 92 हजार वोट मूल्य की जरूरत थी, अब यह जरूरत पूरी हो गई है. यानी यूपी, उत्तराखंड में सरकार बनाने के साथ ही राष्ट्रपति भी बीजेपी की पसंद का ही होने जा रहा है.

यूपी जीत का बोनस: अब बीजेपी ही तय करेगी अगला राष्ट्रपति
बीजेपी ने यूपी और उत्तराखंड में बहुमत हासिल किया है. बंपर जीत के साथ ही बीजेपी जुलाई के बाद राष्ट्रपति भी अपनी पसंद का चुन पाएगी. मौजूदा राष्ट्रपति डॉ प्रणव मुखर्जी का कार्यकाल 25 जुलाई को समाप्त हो रहा है.

राष्ट्रपति पद के चुनाव में लोकसभा, राज्यसभा के साथ-साथ राज्यों की विधानसभाओं के सदस्य भी हिस्सा लेते हैं. सभी सदस्यों के वोट वैल्यू के आधार पर यह चुनाव होता है. चुनाव के लिए करीब 11 लाख वोट वैल्यू होता है, इसमें से साढ़े पांच लाख के लगभग वोट वैल्यू मिलने वाला उम्मीदवार जीत जाता है.

संसद सदस्य का वोट वैल्यू निश्चित है, जबकि राज्यों के विधायक का वोट वैल्यू एरिया की जनता के हिसाब से है. सबसे ज्यादा वोट वैल्यू यूपी के विधायकों का 208 है, वहीं सबसे कम सिक्किम के विधायकों का सिर्फ 7 है.

सांसदों का कुल वोट वैल्यू 5,49,408 होता है, करीब इतना ही विधायकों का 5,49,474 है. दोनों का वोट वैल्यू मिलाकर करीब 11 लाख वोट वैल्यू होता है. राष्ट्रपति बनने के लिए 5,49,442 वोट वैल्यू की जरूरत है.

राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार की दौड़ में पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ मुरली मनोहर जोशी, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू हैं.

First published: March 12, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp