चीनी कब्जे वाले कश्मीर को छुड़ाने की शक्ति भारत के पास नहीं- फारूक अब्दुल्ला

एएनआई
Updated: July 17, 2017, 5:24 PM IST
चीनी कब्जे वाले कश्मीर को छुड़ाने की शक्ति भारत के पास नहीं- फारूक अब्दुल्ला
जम्मू और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि भारत के पास चीन के कब्जे वाले कश्मीर को बीजिंग से वापस लेने की शक्ति का अभाव है. (file photo)
एएनआई
Updated: July 17, 2017, 5:24 PM IST
जम्मू और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने सोमवार को कहा कि भारत के पास चीन के कब्जे वाले कश्मीर को बीजिंग से वापस लेने की शक्ति का अभाव है.

उन्होंने कहा कि चीन ने लद्दाख के अक्साई चिन पर कब्जा कर लिया है. हम इसके बारे में चिल्लाते हैं, लेकिन इसे वापस लेने की शक्ति नहीं है. चीन के साथ तनाव को हल करने का एकमात्र तरीका उनके साथ दोस्ती है, युद्ध कोई समाधान नहीं है.

उन्होंने कहा कि भारत को अपने राजनयिक चैनलों को बढ़ाना चाहिए. फारूक अब्दुल्ला ने कहा है कि चीन पाकिस्तान का दोस्त है. अगर हमने उनसे दोस्ती निभाई होती तो वह पाकिस्तान का दोस्त नहीं होता.



भारत अपने क्षेत्र के हिस्से के रूप में सिक्किम सीमा का दावा करता है. जबकि चीन ने कहा है कि 1890 के बीच ब्रिटिश और चीन के बीच हस्तांतरित संधि के अनुसार यह क्षेत्र उनके पक्ष में आता है. चीन ने वार्षिक कैलाश मानसरोवर यात्रा को निलंबित कर दिया है.

चीन ने यह भी आरोप लगाया है कि भारतीय सैनिकों ने भारत-चीन सीमा के सिक्किम क्षेत्र को पार कर लिया है. चीन ने भारत को 1890 के चीन, सिक्किम और तिब्बत से जुड़े समझौते के उल्लंघन करने का आरोप लगाया है.

 
First published: July 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर