देशविरोधी हरकतों के खिलाफ बने रहेंगे आक्रामकः साकेत बहुगुणा

Updated: March 17, 2017, 9:11 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

न्यूज18 इंडिया की 'चौपाल' में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के राष्ट्रीय मीडिया संयोजक साकेत बहुगुणा ने कहा कि देश के सबसे बड़े छात्र संगठन को कश्मीर से कन्याकुमारी तक सभी का प्यार मिल रहा है. संगठन के आक्रामक छवि के जुड़े एक सवाल पर साकेत ने कहा कि देश विरोधी गतिविधियों के खिलाफ हमारी यह आक्रामकता बनी रहेगी.

उन्होंने कहा कि नक्सलवादी, माओवादी और आतंकवादी ताकतों की नजर विश्विद्यालय परिसरों पर है. हाल ही में महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ में दिल्ली विश्विद्यालय के प्रोफेसर, जेएनयू के छात्र और मीडिया से जुड़े कुछ लोगों को कोर्ट ने नक्सली गतिविधियों की वजह से दंड दिया है. देश को नुकसान पहुंचाने वाली गतिविधियों के खिलाफ हम छात्रों को जागरूक और एकजुट करते हैं.

नक्सलवाद को गरीबी की वजह से पैदा होने की धारणा को गरीबों का मजाक उड़ाना मानते हुए साकेत ने कहा कि देश में गरीबी है, पर हर जगह गरीब देश तोड़ने की कोशिश नहीं करते. नक्सलवाद गरीबी की आड़ लेकर देश में वामपंथी सत्ता चाहते हैं. जहां इनका शासन है वहां राजनीतिक हिंसा करते हैं. बोलने की आजादी की बात करने वाले दूसरी विचारधारा से जुड़े लोगों को जीने तक नहीं देते.

साकेत बहुगुणा ने कहा कि किसी भी तरह की हिंसा का समर्थन नहीं किया जा सकता. हम हिंसक गतिविधियों की निंदा करते हैं. दिल्ली विश्वविद्यालय का परिसर शांत हैं. वहां जाकर वामपंथी उपद्रव करते हैं. कश्मीर की आजादी और बस्तर की आजादी का नारा लगाने वालों का हमारे साथी कार्यकर्ता विरोध करते

रहेंगे.

यह भी पढ़ें- मैं देश विरोधी नारे लगाने वालों के खिलाफ हूं, किसी पार्टी से ताल्‍लुक नहीं: कन्‍हैया

इस दौरान सीपीआई के छात्र संगठन एआईएसएफ के नेता और जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार भी 'चौपाल' में मौजूद रहे. उनसे जुड़े एक सवाल पर साकेत ने कहा कि जेएनयू मामले के बाद ऐसे कई भटके हुए छात्र नेताओं की समझदारी बढ़ी है.

यह भी पढ़ें- मोदी से लड़कर मेरे खाते में 15 लाख आ गए हैं: कन्हैया कुमार

First published: March 17, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp