12वीं पास के बाद डीयू एडमिशन चाहिए, तो जानें कैसे बनती है कटआॅफ और मेरिट लिस्‍ट

News18India.com
Updated: May 19, 2017, 1:32 PM IST
12वीं पास के बाद डीयू एडमिशन चाहिए, तो जानें कैसे बनती है कटआॅफ और मेरिट लिस्‍ट
image: symbolic from PTI
News18India.com
Updated: May 19, 2017, 1:32 PM IST
दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) में स्नातक कोर्स के लिए 22 मई से दाखिले के लिए आवेदन शुरू होगा. डीयू में लगभग 56 हजार सीटों के लिए देश के विभिन्न हिस्सों से छात्र दाखिले के लिए कोशिश करते हैं.

हम आपको बता रहे हैं कि डीयू में कटऑफ कैसे बनती है. दाखिले की प्रक्रिया के दौरान छात्र के 12वीं के परिणाम के आधार पर कट-ऑफ लिस्ट निकालते हैं. इसकी सूची कॉलेज स्‍तर पर निकलती है.

डिप्‍टी डीन ऑफ स्‍टूडेंट वेलफेयर डॉ. गुरप्रीत टुटेजा के मुताबिक इसके लिए 'बेस्ट-4' यानी छात्र के किन्ही 4 विषयों, जिनमें उसे सर्वाधिक अंक आए हैं, उसकी गणना की जाती है. बेस्‍ट-4 में हम थ्‍यौरी और प्रेक्‍टिकल दोनों विषयों को लेते हैं. 70 फीसदी थ्‍यौरी और 30 फीसदी प्रेक्‍टिकल सब्‍जेक्‍ट रहता है.

साइंस में तीन-तीन विषयों (फिजिक्‍स, कैमेस्‍ट्री, मैथ और फिक्जिक्‍स, कैमेस्‍ट्री, बायो) का नंबर जोड़कर ही मेरिट तय की जाती है.

आर्ट्स में चार सब्‍जेक्‍ट को लेकर मेरिट बनती है. इन चार में एक लैंग्‍वेज और तीन अन्‍य विषय होते हैं. इसी तरह कॉमर्स में भी चार सब्‍जेक्‍ट होते हैं. जिनमें एक लैंग्‍वेज और तीन अन्‍य के नंबर जोड़े जाते हैं. कॉलेजों में छात्राओं के लिए एक से तीन फीसदी तक की रियायत दी जाती है.

DU admission merit, university of delhi, du admission 2017-18, दिल्ली विश्वविद्यालय

छात्र नेता साकेत बहुगुणा बताते हैं कि आवेदनों  के आधार पर हर कॉलेज पहली कटऑफ तय करता है. यदि किसी कॉलेज ने किसी संकाय में 96 फीसदी कटऑफ तय की है तो इतने प्रतिशत अंक वालों को ले लिया जाएगा. सीटें बची हैं तो दूसरी कटऑफ जारी होगी. कटऑफ तय करने के लिए हर कॉलेज में एक कमेटी बनती है.

हर कॉलेज में पांच फीसदी सीट स्पोर्ट्स और एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज कोटा के लिए निर्धारित होती हैं. कुछ कोर्स ऐसे भी हैं जिनके लिए यूनिवर्सिटी प्रवेश परीक्षा आयोजित करती है.

ऑनलाइन है आवेदन प्रक्रिया

दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिले की प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी गई है. अब छात्रों को अप्लीकेशन फॉर्म के लिए लाइन लगने की जरूरत नहीं. एडमिशन के लिए फॉर्म की फीस का भुगतान भी ऑनलाइन कर सकते हैं.
First published: May 19, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर