बेनामी संपत्ति के मामले में लालू के यहां IT के छापे, बेटी मीसा पर भी आरोप

News18Hindi
Updated: May 16, 2017, 3:03 PM IST
News18Hindi
Updated: May 16, 2017, 3:03 PM IST
आरजेडी नेता लालू प्रसाद यादव पर आयकर विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है. सूत्रों के मुताबिक विभाग ने लालू यादव के दिल्ली-गुरुग्राम स्थित 22 ठिकानों पर छापेमारी की है. न्यूज 18 इंडिया के मुताबिक जमीन सौदों को लेकर छापेमारी हुई है. आरोप है कि 1 हजार करोड़ का बेनामी जमीन का सौद किया गया.

जानकारी के मुताबिक कार्रवाई की सूचना मिलने के बाद लालू यादव पार्टी नेताओं के साथ आपात बैठक कर रहे हैं. वे मीटिंग के बाद आगे की रणनीति का खुलासा करेंगे. उधर, बीजेपी नेता ने कार्रवाई का बचाव करते हुए कहा कि केंद्र सरकार किसी के खिलाफ बदले से कार्रवाई नहीं करेगी.

आईटी डिपार्टमेंट के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, लालू प्रसाद यादव और उनकी फैमिली के साथ लैंड डील में शामिल लोगों और व्यापारियों की तलाशी ली जा रही है. उन पर 1000 करोड़ रुपए की बेनामी संपत्ति और उस पर लगने वाले टैक्स की चोरी का आरोप है. आयकर विभाग और पुलिस के जवानों के 100 लोगों की एक टीम इस पूरे मामले में छापेमारी कर रही है.

कार्रवाई पर क्या बोले लालू यादव

कार्रवाई पर लालू यादव ने कहा, आरएसएस-बीजेपी को लालू के नाम से कंपकंपी छूटती है. इनको पता है कि लालू इनके झूठ, लूट और जुमलों के कारोबार को ध्वस्त कर रहा है तो दबाव बनाओ. उन्होंने आरोप लगाया, आवाज़ दबाने की कोशिश की जा रही है. पर हम पीछे हटने वाले नहीं हैं.

बढ़ा सियासी पारा
छापेमारी के बाद बिहार में सियासी पारा बढ़ गया है. बताते चलें कि सोमवार को ही बीजेपी ने लालू और उनके बेट पर जमीन के सौदे में शामिल होने का आरोप लगाया था. 12 मई को पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने केंद्र से मामले की जांच की मांग की थी. उन्होंने कहा था कि यह लैंड डील तब हुई थी जब लालू प्रसाद यादव यूपीए सरकार में रेलमंत्री थे.

क्या है आरोप
आरोप है कि बेनामी प्रॉपर्टी को शेल कंपनियों के द्वारा लालू यादव के बच्चों के नाम ट्रांसफर किया गया. न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में एबी एक्सपोर्ट्स के नाम से कंपनी, जिसके शेयर होल्डर्स में तेजस्वी यादव अपनी बहन चंदा यादव के साथ मेजोरिटी में है में भी छापेमारी की गई.

प्रसाद ने यह भी आरोप लगाया था कि लालू यादव की बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती चुनाव एफिडेविट में दिए गए संपत्ति के ब्यौरे को साबित करने में फेल हुई हैं. इसे देखते हुए चुनाव आयोग को उन पर कार्रवाई करनी चाहिए.

बीजेपी ने कहा संगीन आरोप
बीजेपी के जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा, ये बहुत संगीन आरोप हैं. जनता जानती है यूपीए सरकार में हर काम एक दाम के लिए हुआ है. राजनैतिक बयान देकर कोई बच नही सकता. चिदंरम जानते हैं कि उनकी सरकार में सीबीआई का गलत इस्तेमाल हुआ था. इस सरकार में सीबीआई का गलत इस्तेमाल नहीं हो रहा है. मोदी जी की सरकार में किसी के साथ भेदभाव नहीं होगा और आरोपियों को नहीं छोड़ा जाएगा.

मांझी ने कार्रवाई का स्वागत किया
उधर, लालू पर कार्रवाई का पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी से स्वागत किया है. माझी ने कहा, 'सेंट्रल एजेंसी से जांच होनी चाहिए. भारत सरकार कानून संवत काम करने के लिए जानी जाती है. कार्रवाई का स्वागत होना चाहिए.

हालांकि नीतीश सरकार ने जमीन घोटाले के मामले में लालू यादव को क्लीन चिट दे दी है. सोमवार को नीतीश ने कहा था कि अगर किसी के पास सबूत है तो उसे कोर्ट में लेकर जा सकते हैं.
First published: May 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर