मैं देश विरोधी नारे लगाने वालों के खिलाफ हूं, किसी पार्टी से ताल्‍लुक नहीं: कन्‍हैया

News18India
Updated: March 17, 2017, 5:14 PM IST
News18India
Updated: March 17, 2017, 5:14 PM IST
न्यूज़ 18 के चौपाल कार्यक्रम में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा कि वह देश विरोधी और देश की बर्बादी वाले नारे लगाने वालों के खिलाफ हैं.  जिन्होंने ये नारे लगाए उनके खिलाफ चार्जशीट फाइल होनी चाहिए.

कन्हैया ने कहा, जो संविधान के तहत है वही देश के हित में है और जो संविधान के विरोध में है वही देश विरोधी है. आजादी का कोई रंग नहीं होता है.

केंद्र सरकार ने 17 प्रतिशत का हायर एजुकेशन का बजट कट किय़ा . ये दिखाता है कि जो मार्जनाइज्ड लोग हैं उनको नुकसान पहुंचाने की कोशिश की जा रही है. मैं साकेत या एबीवीपी को कोई देशभक्ति का सर्टिि‍फिकेट नहीं दे रहा.

केरल और जहां पर एजुकेशन ज्यादा होता है वहां लोग सबसे ज्यादा एवेयर रहते हैं. जेएनयू को अभी बेहतर यूनिवर्सिटी का राष्ट्रपति पुरस्कार मिला है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 15 लाख रूपए वाले वादे पर कन्हैया ने बोलते हुए कहा कि आपको तो पता नहीं है पर मेरे खाते में 15 लाख रूपये आ गये हैं. जिसमें मैंने 3 लाख रूपये का टैक्स भी अदा कर दिया है.

कन्‍हैया ने कहा, इस देश के अंदर आईआईटी में पढने वालों के लिए खाने की जरूरत होती है. अगर खाने की बात की जाये तो किसान की बातें आएंगी और हमारा आपका किसान का सबका योगदान होता है इस देश के विकास में।

कन्हैया से एक पार्टी और विचारधारा के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि  मैं किसी पार्टी से जुड़ा नहीं हूं. मैं देश की अव्यवस्था के खिलाफ आवाज उठाता हूं.

कन्हैया ने उन लोगों को भी जवाब दिया जो जेएनयू में पीएचडी कर रहे छात्रों पर सवाल उठाते हैं. उन्होंने कहा ये  कंफ्यूजन है, हर काम के लिए एक समय लगता है. ग्रेजुएशन के लिए कम से कम 27 साल लगते हैं. तो मेरी आयु बहुत ज्यादा नहीं है.
First published: March 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर