गंगा को किया गंदा तो मिलेगी सजा, हटेगा कानपुर का चमड़ा उद्योग- उमा भारती

एहतेशाम खान | News18Hindi
Updated: June 19, 2017, 11:44 PM IST
गंगा को किया गंदा तो मिलेगी सजा, हटेगा कानपुर का चमड़ा उद्योग- उमा भारती
जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री उमा भारती
एहतेशाम खान | News18Hindi
Updated: June 19, 2017, 11:44 PM IST
जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री उमा भारती ने कहा है कि केंद्र सरकार जल्द ही गंगा प्रदूषण को रोकने के लिए नया कानून बनाएगी. इस नए कानून में गंगा नदी में प्रदूषण फैलाने वालों को सज़ा का प्रावधान भी होगा.

उन्होंने बताया कि वो यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जल्द ही मिलेंगी. इस मीटिंग मे कानपुर से सभी चमड़ा उद्योग को हटाने की दिशा में बात की जाएगी.

साथ ही उमा भारती ने कहा कि हम देखेंगे कि इसमें किसी का रोजगार ना छिने, लेकिन गंगा को साफ करना भी जरूरी है.

उमा भारती सोमवार को अपने मंत्रालय के पिछले तीन साल की गतिविधियों पर पत्रकारों से बातचीत कर रही थी. इसी दौरान उन्होंने गंगा नदी को स्वच्छ करने की मुहिम पर विस्तार से चर्चा की.

उन्होंने बताया कि गंगा नदी की सफाई पर एक ड्राफ्ट कानून मंत्रालय के समक्ष आ गया है. जिस पर चर्चा की जा रही है. उन्होंने साफ कहा कि इस कानून में सजा का भी प्रावधान होगा.

उमा भारती ने कहा कि हमारा मानना है कि बगैर कानून के काम नहीं चलेगा. कानून बनाना तो जरूरी है. लेकिन फिलहाल मैं ज्यादा नहीं बोलूंगी, क्योंकि कानून पर मंत्रालय में चर्चा चल रही है.

इस कानून में नदी में प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों से ले कर आम आदमी की जिम्मेदारी भी तय की जाएगी. कानून का पालन ना करने वालों को सजा दी जाएगी.

हांलाकि गंगा में दाह संस्कार करने की इजाजत होगी. लेकिन ये सुनिश्चित किया जाएगा कि आधी जली लाश या आधी जली लकड़ी को नदी में ना फेंका जाए.

उमा भारती ने कहा कि दाह संस्कार तो आस्था का विषय है. इसलिए हम उसे नहीं रोकेंगे. लेकिन उसे सही करने की कोशिश की जाएगी.
First published: June 19, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर