राष्ट्रपति चुनावः वोट देने जेल से आए 7 MLA, भुजबल को देखते ही पैर छूने दौड़े विधायक

News18Hindi
Updated: July 17, 2017, 3:30 PM IST
राष्ट्रपति चुनावः वोट देने जेल से आए 7 MLA, भुजबल को देखते ही पैर छूने दौड़े विधायक
Presidential Election में वोट करने के लिए जेल से बाहर आएंगे छगन भुजबल. (File Photo- getty)
News18Hindi
Updated: July 17, 2017, 3:30 PM IST
देश के सबसे बड़े लोकतांत्रिक पद यानी राष्ट्रपति के लिए संसद और विभिन्न राज्यों की विधानसभाओं में मतदान शुरू हो चुके हैं. इस चुनाव में आम नागरिक वोट नहीं करते बल्कि उनके द्वारा चुने गए विधायक और सांसद वोट करते हैं. कई सांसद और विधायक ऐसे हैं जो गंभीर आरोपों में देश की अलग-अलग जेलों में बंद हैं. इनमें से कुछ सीधे जेल से मतदान करने पहुंचे.

झारखंड की राजधानी रांची में चार विधायक सीधे जेल से वोट देने विधानसभा पहुंचे. इनमें संजीव सिंह, निर्मला देवी, प्रदीप यादव और एनोस एक्का शामिल हैं. वहीं बिहार में राजद विधायक राजबल्लभ यादव जेल से वोट डालने पटना स्थित विधानसभा पहुंचे. यादव नवादा से विधायक हैं और उन पर बलात्कार का मामला चल रहा है.

इनके अलावा मुंबई की आर्थर रोड जेल में धोखाधड़ी के आरोप में बंद विधायक रमेश कदंब और पूर्व डिप्टी सीएम छगन भुजबल को भी मतदान के लिए महाराष्ट्र विधानसभा लाया गया.

विधायक छूने लगे भुजबल के पैर

विधानसभा में चल रहे मतदान के बीच जैसे ही भुजबल पुलिस सुरक्षा के बीच विधानसभा की चौखट पर पहुंचे उनसे मिलने के लिए एनसीपी विधायकों का हुजूम उमड़ पड़ा. भुजबल एम्बुलेंस में विधानसभा आये थे. न सिर्फ मीडिया के कैमरे बल्कि एनसीपी समेत सभी दलों के विधायकों की नजरें एम्बुलेन्स पर थी और कुछ ही पलों में एम्बुलेंस का दरवाजा खुला और सफेद दाढ़ी, आखों पर चश्मा और तन पर शॉल ओढ़े भुजबल बाहर आए. भुजबल पहले से काफी कमजोर नजर आ रहे थे. जिस विधानसभा में अपने तेजतर्रार भाषणों से भुजबल समां बांध देते थे उसी विधानसभा की चौखट पर एक साल बाद भुजबल ने कदम रखा था. भुजबल के अंदर दाखिल होते ही तमाम एनसीपी विधायक उनके पैर छूने लगे. हर कोई उनका आशीर्वाद लेना चाहता था मानो भुजबल पर लगे संगीन आरोप उनके लिए कोई मायने नही रखते हैं.

राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद और यूपीए उम्मीदवार मीरा कुमार के बीच मुकाबला है. वोटों की गिनती 20 जुलाई को होगी.

राष्ट्रपति के लिए देश की सभी राज्यों की विधानसभाओं और विधान परिषदों में मतदान जारी है. संसद भवन में भी सांसद लाइन में लगकर मतदान कर रहे हैं. मतदान शाम पांच बजे समाप्त होगा, जिसके बाद सभी राज्यों से मतपेटियों को दिल्ली लाया जाएगा और यहां संसद भवन के 16 नंबर कमरे में रखा जाएगा.
First published: July 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर