राहुल गांधी पैराशूट से भी आ जाएं तो भी हमे दबा नहीं सकते : रविशंकर प्रसाद

News18India

Updated: March 18, 2017, 12:06 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

न्यूज18 इंडिया चौपाल में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि हम जो वादे करते हैं वो जमीन पर दिखाई देते हैं. मैं आईटी मंत्री होने के नाते परिवर्तन देख रहा हूं. युवाओं के साथ जुड़ने की जरूरत है. पीएम मोदी ने संदेश दिया है कि देश बदल रहा है और उसको समझने की जरूरत है.

तीन तलाक के मुद्दे पर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि तीन तलाक का मुद्दा इबादत और धर्म का नहीं है. हम आस्था का सम्मान करते हैं पर मनुष्यता के लिए समझौता नहीं कर सकते. बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाओं ने हमें वोट दिया. तीन तलाक से सबसे ज्यादा परेशान यूपी की महिलाएं हैं ये बदलते देश का संकेत है. अगर गैस का कनेक्शन दिया तो हमने मुस्लिम महिलाओं में अंतर नहीं किया. एक बात हम कह सकते हैं कि हम छोटी पार्टी नहीं है हम 14 राज्यों पर राज करते हैं. हमने गया में ट्रेनिंग की वहां 100 मुस्लिम महिलाओं ने शिरकत की. तो फिर दिल्ली में जब वो आईं तो हमने कहा कि इनकी फोटो बड़ी लगाओ और मेरी छोटी.

रविशंकर ने कहा कि अगर हमने ढाई साल में ईमानदारी से काम किया, अगर भ्रष्टाचार नहीं हुआ है तो ये सच बात है. यूपीए के सरकार में पांच तत्वों में भ्रष्टाचार हुआ. हमने सीधे आम आदमी के लिए काम किया है. हमने 50000 करोड़ रुपये बिचौलिये से बचाए हैं. हम विकास समानता के साथ करते हैं. कांग्रेस की राजनीति है कि रोटी बंटेगी कैसे, हम काम करते हैं कि रोटी बढ़ेगी कैसे. हम लगातार विकास के लिए काम करते हैं, उद्योग, व्यापार, उत्पाद बढ़ाओ जिससे टैक्स बढ़ेगा और इससे विकास बढ़ेगा. कांग्रेस क्या सोचती है कि घी पीते रहो और कर्ज लेते रहो.

रविशंकर ने कहा कि हमारी सरकार में आईटी सेक्टर में एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा पूंजी निवेश हुआ है और देश के लोगों को रोजगार मिलेगा. देश का नौजवान मोदी जी पर विश्वास करता है. विपक्ष अगर सोचता है कि एक साथ होकर हमको दबा लोगे तो सही नहीं है. हम उत्तर पूर्व में भी आ गये हैं. अगर मुलायम सिंह, लालू प्रसाद, अखिलेश यादव साथ आ जायें और राहुल गांधी पैराशूट से भी आ जायें तो ये नहीं हो सकता. हम बिहार और दिल्ली हारे हम स्वीकरा करते हैं पर वहां दोनों राज्य की जनता विकास न होने से परेशान है. आज लालू जी और राबड़ी देवी नीतीश कुमार को सलाह दे रहे हैं कि हम बूढ़े हो गए हैं और बेटे को गद्दी दे दो.

रविशंकर ने कहा कि मेनिका गांधी हमारे विचार को मानती हैं. वो बीजेपी के विचार से सहमत हैं. आपातकाल में जो हुआ वो गलत हुआ, जो जेपी के साथ हुआ वो गलत हुआ. देश के लोकतांत्रिक मूल्यों से कभी कॉम्प्रोमाइज नहीं किया जाएगा. शिक्षा में आरक्षण होना चाहिए और बिल्कुल होना चाहिए. दलित परिवार में पैदा होकर, गरीबी में पैदा हुए लोगों को देखकर ये जरूरी है उसको आरक्षण मिले. संविधान उनको ये अधिकार देता है.

ढाई साल के कार्यकाल का हिसाब देते हुए रविशंकर ने कहा कि ढाई साल में अगर पचास हजार करोड़ रुपये बचे हैं, भ्रष्टाचार नहीं हुआ, नए मोबाइल ग्राहकों को जोड़ा है, सड़क बनने की रफ्तार बढ़ाई है तो ये अच्छे दिन ही हैं. हम डिटिजल की दुनिया में विश्व में टॉप पर जाना चाहते हैं. हमने महिला सशक्तिकरण की बात की, प्रजापति को हमने पकड़ा. महिलाओं को सुरक्षा मिले और वो सशक्त हों ये हमारा लक्ष्य है. हम आईटी के माध्यम से महिलाओं को सशक्त करते आए हैं.

First published: March 18, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp