सुप्रीम कोर्ट ने पूछा- क्या पैन कार्ड के लिए आधार को अनिवार्य करना जरूरी था

भाषा
Updated: April 21, 2017, 2:06 PM IST
सुप्रीम कोर्ट ने पूछा- क्या पैन कार्ड के लिए आधार को अनिवार्य करना जरूरी था
Image Source: File Photo
भाषा
Updated: April 21, 2017, 2:06 PM IST
सुप्रीम कोर्ट ने पैन कार्ड बनवाने के लिए आधार कार्ड की अनिवार्य पर सवाल खड़ा करते हुए केंद्र सरकार से पूछा कि क्या इसके अलावा कोई और तरीका नहीं था. कोर्ट अब इस मामले की दोबारा सुनवाई 25 अप्रैल को सुनाएगी.

अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने सुप्रीम कोर्ट के सवाल का जवाब देते हुए न्यायमूर्ति ए के सीकरी की अध्यक्षता वाली पीठ से कहा, यह पाया गया है कि लोग ऐसे पैन कार्ड की जानकारी दे रहे थे, जिन्हें फर्जी दस्तावेजों के जरिए बनवाया गया है. इसके अलावा ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जिनमें एक व्यक्ति के पास कई पैन कार्ड थे. इन फर्जी कार्ड का इस्तेमाल फर्जी कंपनियों को धन हस्तांतरण के लिए किया जा रहा था.

अटॉर्नी जनरल के जवाब पर कोर्ट ने पूछा, ‘क्या इसका उपाय यह है कि आपके पास पैन बनवाने के लिए आधार होना चाहिए? इसे अनिवार्य क्यों बनाया गया?’ इसके जवाब में रोहतगी ने कहा कि पहले भी पाया गया था कि लोग फर्जी पहचान पत्रों के आधार पर मोबाइल फोन के लिए सिम कार्ड खरीद रहे थे. तब शीर्ष अदालत ने सरकार से इसपर लगाम कसने को कहा था.

पीठ ने कहा कि वह पैन कार्ड के लिए आधार को अनिवार्य बनाने के सरकार के कदम को चुनौती देने वाली याचिका पर दलीलों की सुनवाई 25 अप्रैल को करेगी. वर्ष 2017-18 के बजट के वित्त विधेयक में कर प्रावधानों में संशोधन के जरिए सरकार ने आयकर रिटर्न दाखिल करने के लिए आधार को अनिवार्य बना दिया है और कई पैन कार्ड का इस्तेमाल करके की जाने वाली कर चोरी पर रोक लगाने के लिए पैन को आधार से जोड़ने का प्रावधान किया गया है.
First published: April 21, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर