टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को धमकाया, गालियां भी दीं

News18Hindi
Updated: July 18, 2017, 9:03 AM IST
टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को धमकाया, गालियां भी दीं
mohammad shami: भारतीय तेज गेंदबाज ने धमकी के बाद पुलिस में मामला दर्ज कराया-(File photo)
News18Hindi
Updated: July 18, 2017, 9:03 AM IST
टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को जाधवपुर में उनके घर के बाहर कुछ लड़कों ने भद्दी गालियां दीं और धमकी दी कि अगर वह घर से बाहर निकले तो सबक सिखाएंगे. उनकी बिल्डिंग के केयरटेकर पर गाली देने वालों ने धावा बोला. शमी ने इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.

जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चार लड़कों में से ए की पहचान कर गिरफ्तार कर लिया है. शमी जिस बिल्डिंग में रहते हैं वह तीन मंजिला है और वह खुद पहली मंजिल पर रहते हैं. तीन अन्य संदिग्ध लोगों को भी हिरासत में लिया गया था जिन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया.

शमी ने मीडिया को बताया, 'हमने पुलिस को बता दिया जो भी मेरे और मेरे परिवार के साथ हुआ. उम्मीद है कि पुलिस हमें सुरक्षा प्रदान करेगी.' शमी ने पुलिस को बताया कि वह अपनी BMW X1 कार से साउथ सिटी से अपनी घर की ओर आ रहा था. वह अपनी कार को घर की पार्किंग में ले जाने के लिए बैक कर रहे थे. तभी एक बाइक सवार आया और चिल्लाने लगा. शमी भी उतरकर गए और दोनों के बीच खूब बहस हुई.

शमी ने बताया कि पार्किंग के दौरान वह शख्स उनकी गाड़ी के शीशे को पीटने लगा और बोला कि मैं इतना वक्त क्यों लगा रहा हूं. शमी ने पलटकर कहा कि इतनी चौड़ी सड़क है कि ऑटो रिक्शा निकले जा रहे हैं तो फिर उसकी बाइक क्यों नहीं निकल पा रही. बाद में जब शमी कार से पार्किंग के अंदर चले गए लेकिन आरोप लगाया गया कि वह लड़का केयरटेकर को धमकी देते हुए कहा कि वह और लोगों को लेकर फिर आएगा.

इसके बाद वह कुछ और लड़कों के साथ फिर आया. उन लड़कों ने केयरटेकर को कॉलर पकड़कर धमकाया और शमी के बारे में पूछा. एक लड़का लगातार केयरटेकर की पत्नी को गालियां देता रहा और बाकी सीढ़ियों से शमी के घर की ओर बढ़े. इसके बाद उन लड़कों ने शमी के घर का दरवाजा जोर जोर से पीटा और धमकाया, इसके बाद वे वहां से चले गए.

पुलिस ने चार में से तीन लोगों पर आईपीसी की धारा 441, स्वैच्छिक हमला (आईपीसी की धारा 323) और आपराधिक धमकी (आईपीसी की धारा 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है.
First published: July 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर