उपहार सिनेमा कांड के दोषी गोपाल अंसल को राहत नहीं, जाना होगा जेल

Updated: March 20, 2017, 1:23 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

सुप्रीम कोर्ट ने गोपाल अंसल को राहत देने से इंकार कर दिया है. अब गोपाल अंसल को उपहार अग्निकांड के मामले में एक साल कारावास की सजा भुगतने के लिए आज ही आत्मसमर्पण करना होगा. अंसल ने राष्ट्रपति के समक्ष दया याचिका दायर करने के मद्देनजर उसे आत्मसमर्पण के लिये कुछ मोहलत दिए जाने का अनुरोध किया लेकिन सुप्रीम कोर्ट अपने फैसले पर कायम रहा.

गौरतलब हो कि 9 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने 1997 में हुए उपहार अग्निकांड मामले के संबंध में रियल एस्टेट दिग्गज गोपाल अंसल को एक साल कारावास की सजा सुनाई. जबकि इसी मामले में उनके बड़े भाई सुशील अंसल पर उनकी उम्र को देखते हुए कोर्ट ने रहम किया है. इस घटना में 59 लोग मारे गए थे.

उपहार सिनेमा कांड के दोषी गोपाल अंसल को राहत नहीं, जाना होगा जेल
सुप्रीम कोर्ट ने गोपाल अंसल को राहत देने से इंकार कर दिया है. अब गोपाल अंसल को उपहार अग्निकांड के मामले में एक साल कारावास की सजा भुगतने के लिए आज ही आत्मसमर्पण करना होगा.

उपहार कांड में सुप्रीम कोर्ट ने सुनाई गोपाल अंसल को 1 साल की सजा, सुशील पर रहम

जांच एजेंसी और उपहार त्रासदी पीड़ित संघ ने सुप्रीम कोर्ट के 19 अगस्त 2015 के फैसले पर पुनर्विचार का अनुरोध किया था. इस फैसले में कहा गया था कि जुर्माने के रूप में 30-30 करोड़ रुपये नहीं देने पर सुशील अंसल और गोपाल अंसल को दो साल कड़े कारावास की सजा भुगतनी होगी. दोषी पहले ही जुर्माना भर चुके है.

गौरतलब है कि दक्षिण दिल्ली के ग्रीन पार्क इलाके में उपहार थियेटर में 13 जून 1997 को ‘बार्डर’ फिल्म दिखाए जाने के दौरान आग लगने के बाद दम घुटने से 59 लोगों की मौत हो गई थी. इसके बाद मची भगदड़ में 100 से अधिक लोग घायल भी हो गए थे।

First published: March 20, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp