उपराष्ट्रपति चुनावः वेंकैया-गांधी ने दाख़िल किया नामांकन, नायडू ने पार्टी को बताया 'मां'

News18Hindi
Updated: July 18, 2017, 1:22 PM IST
उपराष्ट्रपति चुनावः वेंकैया-गांधी ने दाख़िल किया नामांकन, नायडू ने पार्टी को बताया 'मां'
वेंकैया नायडू को NDA ने उपराष्ट्रपति पद का अपना उम्मीदवार बनाया है.
News18Hindi
Updated: July 18, 2017, 1:22 PM IST
उप राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए के उम्मीदवार एम वेंकैया नायडू ने नामांकन भर दिया है, उन्होंने दो सेटों में नामांकन भरा, पहले सेट में पीएम नरेंद्र मोदी उनके प्रस्ताव बने वहीं दूसरे सेट में वित्त मंत्री अरुण जेटली उनके प्रस्तावक रहे. उधर, यूपी उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी ने भी इस पद के लिए नामांकन भर दिया. डिटेल यहां पढ़ें 

नायडू के नामांकन के दौरान एनडीए ने जमकर शक्ति प्रदर्शन किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, अमित शाह समेत कई दर्जन नेता नायडू के साथ पहुंचे थे. नामांकन से पहले नायडू ने पार्टी और गठबंधन के नेताओं से मुलाक़ात की थी.

नामांकन दाखिल करने के बाद नायडू ने कहा, "उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार होना मेरे लिए गर्व की बात है. मैं चार दशकों से पब्लिक लाइफ में हूं. उपराष्ट्रपति की प्रोफाइल थोड़ी अलग है. इसके अपने नियम हैं. मुझे उम्मीद है कि मैं इसे बेहतर तरीके से निभा पाउंगा. मैं प्रधानमंत्री का शुक्रगुजार हूं. भारत की ताकत और खूबसूरती इसकी संसदीय लोकतांत्रिक व्यवस्था में है. मैं इसे और मजबूत करने की दिशा में काम करूंगा." नायडू ने पार्टी को मां भी करार दिया.

उपराष्ट्रपति पद के लिए AIADM के सांसदों ने वैंकेया नायडू का समर्थन किया है. इस पद के लिए 5 अगस्त को मतदान होगा और इसी दिन शाम तक अगले उपराष्ट्रपति के नाम की घोषणा कर दी जाएगी.




सोमवार शाम बीजेपी की संसदीय बोर्ड की बैठक में नायडू का नाम फाइनल होने के बाद उन्होंने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. नायडू के अलावा यूपीए के उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी भी उपराष्ट्रपति पद के लिए नामांकन दाखिल करेंगे.

नायडू चार बार राज्‍यसभा सांसद रहे हैं. उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर नायडू ने नाम की घोषणा होने के साथ ही उनके घर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. उपराष्‍ट्रपति पद के लिए पांच अगस्‍त को मतदान होगा.

(पढ़ेंः इसलिए नायडू बनाए गए उम्मीदवार)

नायडू का राजनीतिक सफर
1 जुलाई 1949 को आंध्र प्रदेश के नेल्लौर में जन्मे वेंकैया नायडू को भाजपा का संकटमोचक भी कहा जाता है. वह 2002 से 2004 तक भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं. अभी नायडू केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री हैं. इसके अलावा वो केंद्रीय शहरी विकास मंत्री भी हैं.

नायडू अटल बिहारी वाजपेयी के शासनकाल में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री रह चुके हैं. 1978 से 1783 तक नायडू नेल्लौर से विधायक रहे. 1998 से अब तक वो भाजपा के राज्यसभा सांसद भी हैं. इसके अलावा वो 1988 से 1993 तक वो आंध्र प्रदेश में भाजपा के अध्यक्ष थे.
First published: July 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर