बीवी के मर्जी के बिना नहीं हो पाएगा तीन तलाक!

नासिर हुसैन | News18India.com
Updated: May 18, 2017, 6:38 PM IST
बीवी के मर्जी के बिना नहीं हो पाएगा तीन तलाक!
Photo: News18Hindi (File photo)
नासिर हुसैन | News18India.com
Updated: May 18, 2017, 6:38 PM IST
तीन तलाक के मामले में बीवी की मर्जी शामिल की जा सकती है. बिना बीवी की मर्जी के शौहर तुरंत वाला तीन तलाक नहीं देगा. बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक के मामले पर सुनवाई के दौरान कपिल सिब्बल ने ये बात कही थी. आज एक बार फिर से कपिल सिब्बल ने इसी बात को दोहराया है.

इसी दौरान ये ही बात दारुल उलूम देवबंद से हुए एक सवाल-जवाब के रूप में भी सामने आ गई. हालांकि ये सवाल-जवाब मार्च 2017 का है. देवबंद के उस दस्तावेज के अनुसार जस्टिस सुहैल अहमद ने ये सवाल किया था.

हालांकि देवबंद से हुए इस सवाल-जवाब को फतवा बताया जा रहा है. लेकिन देवबंद के मुफ्ती राशिद ने खुद इसका खंडन किया है. उनका कहना है कि ये फतवा नहीं है.

अभी दारुल उलूम ने ऐसा कोई फैसला नहीं लिया है कि इसे निकाह के दौरान लागू किया जाएगा. ये सिर्फ एक सवाल का जवाब था और उसे जवाब के रूप में ही माना जाए.

गुरुवार को एक बार फिर से एडवोकेट कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट के सामने तीन तलाक मामले पर एक हल के रूप में इसी बात को दोहराया है. वहीं ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की वर्किंग कमेटी के सदस्य एसक्यूआर इलियास का कहना है कि ‘हम सभी काजियों को एक एडवाइजरी जारी करेंगे. वो लोगों को बताए कि अगर तलाक की स्थिति आती है तो पहले मध्यस्ता करते हुए सुलह कराने की कोशिश का सहारा लें. उन्होंने बताया कि निकाहनामे में भी ये शर्त जोड़ी जाएगी. ऐसी शर्त जोड़ने की गुंजाइश शरीयत में भी है.

इलियास का कहना है कि अगर बीवी चाहे तो निकाहनामे में ये भी जोड़ा जाएगा कि तुरंत वाला तीन तलाक तब तक लागू नहीं होगा जब तक उसे बीवी उसका समर्थन न करे.
First published: May 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर