तीन विज्ञान पत्रिकाओं ने निकाली महिला पत्रिका अंक

News18Hindi
Updated: March 21, 2017, 4:02 PM IST
तीन विज्ञान पत्रिकाओं ने निकाली महिला पत्रिका अंक
भारत में यह पहली बार है कि तीन विज्ञान पत्रिकाओं ने मार्च में महिला वैज्ञानिकों पर केंद्रित अंक निकाले हैं.
News18Hindi
Updated: March 21, 2017, 4:02 PM IST
भारत में यह पहली बार है कि तीन विज्ञान पत्रिकाओं ने मार्च में महिला वैज्ञानिकों पर केंद्रित अंक निकाले हैं. इन अंकों का संपादन महिलाओं ने किया है और इसमें महिला वैज्ञानिकों के लेख और रिसर्च पेपर प्रकाशित किए गए हैं.

ये पत्रिकाएं हैं फिजिक्‍स न्‍यूज, करेंट साइंस और रेजोनेंस. इंडियन एकेडमी ऑफ साइंसेज की पत्रिका रेजोनेंस 1996 से प्रकाशित हो रही है. करेंट साइंस का प्रकाशन 1932 से शुरू हुआ था और इंडियन फिजिक्‍स एसोसिएशन की पाक्षिक पत्रिका फिजिक्‍स न्‍यूज 1970 से प्रकाशित हो रही है, लेकिन यह पहली बार है कि इन पत्रिकाओं ने पूरी तरह महिलाओं पर केंद्रित कोई अंक निकाला है.

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी में बॉटनी विभाग की प्रोफेसर सुदेशना मजूमदार लिंगटन और इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ एस्‍ट्रोफिजिक्‍स से जुड़ी एस्‍ट्रोफिजिसिस्‍ट प्रज्‍वल शास्‍त्री ने रेजोनेंस का संपादन किया है.

हैदराबाद यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर बिंदु ए. भांबा और टाटा इंस्‍टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च, मुंबई की वंदना नानल फिजिक्‍स न्‍यूज की अतिथि संपादक हैं. प्रज्‍वल शास्‍त्री ने फिजिक्‍स न्‍यूज के संपादन में भी अपना योगदान दिया है.

पिछले साल ब्रिटिश साइंस जरनल न्‍यू साइंटिस्‍ट में प्रकाशित एक लेख तमाम तथ्‍यों और आंकड़ों के साथ यह बता रहा था कि विज्ञान के क्षेत्र में पुरुषों के मुकाबले में महिलाओं की संख्‍या बहुत कम है.

शायद इसी गैरबराबरी और बाकी समाज की तरह विज्ञान की दुनिया में फैले पूर्वाग्रहों को दूर करने की एक कोशिश है तीन भारतीय विज्ञान पत्रिकाओं की यह पहल.
First published: March 21, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर