विमान हादसा


Updated: March 5, 2015, 7:54 PM IST
विमान हादसा
नेपाल में राजधानी काठमांडू में शुक्रवार सुबह हुई विमान दुर्घटना में 19 लोगों की मौत हो गई। इनमें सात ब्रिटिश पर्यटक भी शामिल हैं। ये पर्यटक वहां माउंट एवरेस्ट के नजदीक के पहाड़ों पर पर्वतारोहण का मजा लेने और छुट्टियां बिताने पहुंचे थे।

Updated: March 5, 2015, 7:54 PM IST
नेपाल में राजधानी काठमांडू में शुक्रवार सुबह हुई विमान दुर्घटना में 19 लोगों की मौत हो गई। इनमें सात ब्रिटिश पर्यटक भी शामिल हैं।
नेपाल में राजधानी काठमांडू में शुक्रवार सुबह हुई विमान दुर्घटना में 19 लोगों की मौत हो गई। इनमें सात ब्रिटिश पर्यटक भी शामिल हैं।
ये पर्यटक वहां माउंट एवरेस्ट के नजदीक के पहाड़ों पर पर्वतारोहण का मजा लेने और छुट्टियां बिताने पहुंचे थे।
ये पर्यटक वहां माउंट एवरेस्ट के नजदीक के पहाड़ों पर पर्वतारोहण का मजा लेने और छुट्टियां बिताने पहुंचे थे।
सीता एयर एयरलाइन का डोर्नियर एयरक्राफ्ट 9एन-एएचए सुबह 6.10 बजे काठमांडू में त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से उड़ान भरने के कुछ मिनट बाद ही वहां से मात्र एक किलोमीटर की दूरी पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।
सीता एयर एयरलाइन का डोर्नियर एयरक्राफ्ट 9एन-एएचए सुबह 6.10 बजे काठमांडू में त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से उड़ान भरने के कुछ मिनट बाद ही वहां से मात्र एक किलोमीटर की दूरी पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।
बीबीसी के मुताबिक मारे गए लोगों में सात ब्रिटिश, पांच चीनी व सात नेपाली नागरिक शामिल हैं।
बीबीसी के मुताबिक मारे गए लोगों में सात ब्रिटिश, पांच चीनी व सात नेपाली नागरिक शामिल हैं।
सिन्हुआ समाचार एजेंसी ने पूर्व में बताया था कि मरने वालों में ज्यादातर इतालवी नागरिक हैं।
सिन्हुआ समाचार एजेंसी ने पूर्व में बताया था कि मरने वालों में ज्यादातर इतालवी नागरिक हैं।
वेबसाइट 'मायरिपब्लिका डॉट कॉम' के मुताबिक एक प्रत्यक्षदर्शी तुलसा पोखरल का घर दुर्घटना स्थल से महज कुछ मीटर की दूरी पर है।
वेबसाइट 'मायरिपब्लिका डॉट कॉम' के मुताबिक एक प्रत्यक्षदर्शी तुलसा पोखरल का घर दुर्घटना स्थल से महज कुछ मीटर की दूरी पर है।
तुलसा ने बताया कि उन्होंने काले धुएं से घिरे विमान को मनोहर नदी के नजदीक एक खुली जगह पर उतरते देखा। उन्होंने कहा कि तब मैंने सुना कि विमान के अंदर मौजूद लोग रो और चीख रहे थे।
तुलसा ने बताया कि उन्होंने काले धुएं से घिरे विमान को मनोहर नदी के नजदीक एक खुली जगह पर उतरते देखा। उन्होंने कहा कि तब मैंने सुना कि विमान के अंदर मौजूद लोग रो और चीख रहे थे।
तुलसा ने बताया कि मैंने पहले पुलिस व अन्य स्थानीय लोगों को इस सम्बंध में सूचित किया। जब मैं वापस आई तो वहां खामोशी छा गई थी। हमने देखा कि विमान जल रहा था और वे सब मर चुके थे।
तुलसा ने बताया कि मैंने पहले पुलिस व अन्य स्थानीय लोगों को इस सम्बंध में सूचित किया। जब मैं वापस आई तो वहां खामोशी छा गई थी। हमने देखा कि विमान जल रहा था और वे सब मर चुके थे।
मारे गए सात नेपालियों में तीन चालक दल सदस्यों में पायलट बिजय तांदुकर, को-पायलट तकेशी थापा व विमान परिचायिका रुजा शाक्य शामिल हैं।
मारे गए सात नेपालियों में तीन चालक दल सदस्यों में पायलट बिजय तांदुकर, को-पायलट तकेशी थापा व विमान परिचायिका रुजा शाक्य शामिल हैं।
एक बिना टिकट नेपाली सैनिक कुमार मागर भी मारा गया। एक अधिकारी दीपेंद्र पौडे ने बताया कि मारे गए लोग एक पर्वतारोही दल के सदस्य थे।
एक बिना टिकट नेपाली सैनिक कुमार मागर भी मारा गया। एक अधिकारी दीपेंद्र पौडे ने बताया कि मारे गए लोग एक पर्वतारोही दल के सदस्य थे।
उनकी माउंट एवरेस्ट के आसपास के पहाड़ों पर चढ़ाई की योजना थी।
उनकी माउंट एवरेस्ट के आसपास के पहाड़ों पर चढ़ाई की योजना थी।
उन्होंने बताया कि विमान के उड़ान भरने के दो मिनट के अंदर उसमें आग लग गई।
उन्होंने बताया कि विमान के उड़ान भरने के दो मिनट के अंदर उसमें आग लग गई।
गौरतलब है कि मुश्किल से चार महीने पहले ही पश्चिमी नेपाल में 21 लोगों को ले जा रहा विमान एक चट्टान से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। 14 मई को हुई इस दुर्घटना में मरने वालों में सात भारतीय भी शामिल थे।
गौरतलब है कि मुश्किल से चार महीने पहले ही पश्चिमी नेपाल में 21 लोगों को ले जा रहा विमान एक चट्टान से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। 14 मई को हुई इस दुर्घटना में मरने वालों में सात भारतीय भी शामिल थे।
First published: September 28, 2012
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर