हां, दंगों पर मोदी से खुश नहीं थे अटल: ब्रजेश मिश्रा

CNN-IBN
Updated: June 20, 2012, 1:29 PM IST
हां, दंगों पर मोदी से खुश नहीं थे अटल: ब्रजेश मिश्रा
अटल सरकार में प्रमुख सचिव रहे ब्रजेश मिश्रा ने नीतीश कुमार द्वारा दिए गए उस बयान का समर्थन किया जिसमें नीतीश ने कहा है कि गुजरात दंगों के बाद अटल बिहारी वाजपेयी मोदी से खुश नहीं थे और उन्हें राजधर्म निभाने की सलाह दी थी।
CNN-IBN
Updated: June 20, 2012, 1:29 PM IST
नई दिल्ली। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बाद अब पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में प्रमुख सचिव रह चुके ब्रजेश मिश्रा ने मोदी पर वार करते हुए कहा है कि गुजरात दंगों का दाग नरेंद्र मोदी को गठबंधन राजनीति की दौर में कभी प्रधानमंत्री नहीं बनने देगा। सीएनएन-आईबीएन को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में मिश्रा ने कहा कि मोदी बीजेपी पार्टी के प्रधानमंत्री के उम्मीदवार हो सकते हैं अगर पार्टी को पूर्ण बहुमत मिलता है।

मिश्रा ने नीतीश कुमार द्वारा दिए गए उस बयान का समर्थन किया जिसमें नीतीश ने कहा है कि गुजरात दंगों के बाद अटल बिहारी वाजपेयी मोदी से खुश नहीं थे और उन्हें राजधर्म निभाने की सलाह दी थी। उन्होंने कहा कि अटल जी और नरेंद्र मोदी में कोई तुलना नहीं है। अटल जी में जो गुण थे वो अन्य किसी बीजेपी नेताओं में नहीं हैं। नीतीश द्वारा 2004 का चुनाव हारने की मुख्य वजह 2002 के दंगों को बताने पर मिश्रा ने कहा कि चुनाव हारने के पीछे इसके अलावा और भी कई कारण थे जिसमें चुनाव का तय समय से पहले होना भी था। अटल जी ने पहले ही कह दिया था कि हम यह चुनाव नहीं जीतने जा रहे।

मालूम हो कि बिहार के मुक्यमंत्री नीतीश कुमार ने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि एनडीए का पीएम पद का उम्मीदवार धर्मनिरपेक्ष होना चाहिए। उन्होंने मोदी पर आरोप लगाते हुए कहा कि गुजरात दंगों के दौरान मोदी की भूमिका से पूर्व पीएम वाजपेयी खुश नहीं थे और उन्होंने 'राजधर्म' अपनाने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि गुजरात दंगों के दौरान मोदी के फेल होने की वजह से ही 2004 में एनडीए चुनाव हार गया था।
First published: June 20, 2012
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर